नई दिल्ली [भगवान झा]। देशभर में जहां एक ओर तमाम अस्पतालों में ऑक्सीजन को लेकर मारामारी है। इतना ही नहीं, कोरोना वायरस संक्रमण के चलते लोगों की मजबूरी का फायदा उठाकर कालाबाजारी भी तेज हो गई है। वहीं दिल्ली में एक जगह ऐसी भी है, जहां पर लोगों को मुफ्त में ऑक्सीजन मुहैया कराई जा रही है। दरअल, दिल्ली के मायापुरी इंडस्ट्रियल एरिया में एक ऑक्सीजन प्लांट ऐसा भी है, जहां पर ऑक्सीजन सिलेंडर की रिफिलिंग की जा रही है, वह भी मुफ्त में। इसके साथ ही लोगों को फ्री में ऑक्सीजन बांटी भी जा रही है।

50 अस्पतालों में की गई ऑक्सीजन की आपूर्ति

मायापुरी इंडस्ट्रियल वेलफेयर एसोसिएशन की पहल से अस्पतालों को निश्शुल्क ऑक्सीजन उपलब्ध कराई जा रही है। दिल्ली पुलिस के माध्यम से करीब 50 अस्पतालों में अब तक ऑक्सीजन की आपूर्ति हो चुकी है और दावा किया जा रहा है कि दिल्ली में आक्सीजन की कमी नहीं होने दी जाएगी।

मायापुरी इंडस्ट्रियल वेलफेयर एसोसिएशन के महासचिव नीरज सहगल ने कहा  कि एक सप्ताह पूर्व दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी की बात सामने आने लगी, तभी मायापुरी फेज वन स्थित विनायक डिस्ट्रीब्यूटर के साथ मिलकर उन्होंने यह पहल शुरू की थी। उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन की कमी की बात सुनकर होम आइसोलेशन में रह रहे कोरोना संक्रमित ज्यादा परेशान हो गए और अपने लिए जल्द से जल्द ऑक्सीजन की व्यवस्था में जुट गए। उन्होंने बताया कि 700 लोगों का फोन इस बीच उन्होंने रिसीव किया, जिसमें से 698 लोग ऐसे थे, जिन्हें ऑक्सीजन की तत्काल जरूरत नहीं थी। वे सिर्फ घर में रखने के लिए ऑक्सीजन यहां से लेकर गए। इस कारण और भी ज्यादा परेशानी लोगों को हुई। 

संयुक्त किसान मोर्चा और राकेश टिकैत की छवि लगातार हो रही खराब, आखिर कब समझेंगे जनता का मिजाज

फिलहाल अस्पतालों को ही दी जा रही है ऑक्सीजन

उन्होंने बताया कि बाहरी, पश्चिमी, उत्तरी, द्वारका सहित अन्य जिलों के पुलिस उपायुक्त से वह लगातार संपर्क में हैं और जिस अस्पताल में ऑक्सीजन की जरूरत होती है, उसमें पुलिसकर्मियों के माध्यम से ऑक्सीजन उपलब्ध करा रहे हैं। पहले व्यक्तिगत रूप से भी लोगों को ऑक्सीजन उपलब्ध करा रहे थे, लेकिन बाद में दिल्ली सरकार की ओर से कहा गया कि बिना डॉक्टर की अनुमति के ऑक्सीजन लेने से लोगों के स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है। अब सिर्फ अस्पतालों को ही ऑक्सीजन मुहैया कराई जा रही है।

मायापुरी थाना के एसएचओ मनोज कुमार ने बताया कि निश्शुल्क ऑक्सीजन दिए जाने पर होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों की भी भीड़ बढ़ गई थी। बुधवार को करीब दो हजार ऑक्सीजन सिलेंडर यहां पर भरे गए, जो कि विभिन्न अस्पतालों व होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों को भेजे गए हैं।

डाबड़ी थाना पुलिस ने अस्पताल के लिए किया आक्सीजन का इंतजाम

द्वारका स्थित आकाश अस्पताल को ऑक्सीजन सिलेंडर की जरूरत की जानकारी मिलते ही डाबड़ी थाना पुलिस सक्रिय हो गई। द्वारका जिला पुलिस उपायुक्त संतोष कुमार मीणा ने बताया कि थाना प्रभारी इंस्पेक्टर सुरिंदर सिंह संधू के नेतृत्व में पुलिसकर्मियों ने ऑक्सीजन की आपूर्ति करने वाले प्रतिष्ठानों से संपर्क करना शुरू किया। पुलिस ने वजीरपुर व जीवन पार्क इलाके में संपर्क किए लेकिन सफलता नहीं मिली। अंत में पुलिस ने मायापुरी इलाके में स्थित ऑक्सीजन प्लांट से संपर्क किया और 37 सिलेंडर का इंतजाम हो गया। पुलिस ने सिलेंडर को अस्पताल परिसर तक पहुंचाना सुनिश्चित किया।

Rakesh Tikait बोले- आंदोलन जबरदस्ती खत्म करवाया तो गांवों में नहीं मिलेगी भाजपा नेताओं को एंट्री

 

प्लांट से कई अस्पतालों में भी भेजी जा रही है ऑक्सीजन

इस ऑक्सीजन प्लांट के मालिक अभिषेक गुप्ता का कहना है कि आज इंसान और इंसानियत दोनों को बचाने की जरूरत है। वह कहते हैं- 'एक ओर कोरोना वायरस संक्रमण का कहर जारी है, तो वहीं   दिल्ली से विभिन्न अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी की खबरें लगातार आ रही हैं। इसके कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों को भी ऑक्सीजन की जरूरत भी है। ऐसी विकट स्थिति में हमने मुफ्त में ऑक्सीजन बांटने का फैसला लिया। उन्होंने यह जानकारी भी दी है कि इस काम उनकी मदद दिल्ली सरकार भी कर रही है। 

 ये भी पढ़ेंः नोएडा व ग्रेटर नोएडा के कोविड अस्पतालों में आक्सीजन की भारी किल्लत, कुछ घंटे का बचा स्टाक

प्लांट की सुरक्षा के लिए दिल्ली पुलिस बाहर है तैनात 

जिस तरह से दिल्ली-एसीआर के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी की बात सामने आ रही है, ऐसे में भीड़ के उग्र होने का खतरा भी बना  हुआ है। मध्य प्रदेश में तो जैसी ही गाड़ी के जरिये ऑक्सीजन गैस सिलेंडर लाए गए, उन्हें तीमारदार उठाकर चलते बने। ऐसे हालात यहां पर न पैदा हों, इसलिए दिल्ली के मायापुरी इंडस्ट्रियल एरिया के इस ऑक्सीजन प्लांट के बाहर समूचित मात्रा में दिल्ली पुलिस के जवान तैनात हैं। इनका काम यहां पर अफरातफरी न पैदा होने देने के साथ ही ऑक्सीजन प्लांट की सुरक्षा करना भी है।

पिछले सप्ताह हुई थी मुफ्त ऑक्सीजन की शुरुआत

ऑक्सीजन प्लांट के मालिक अभिषेक गुप्ता ने बताया कि दिल्ली में पिछले एक सप्ताह के दौरान ऑक्सीजन को लेकर काफी दिक्कत सामने आ रही है। टेलीविजन और अन्य माध्यमों से इसकी जानकारी लगी तो हमने हालात के मद्देनजर मुफ्त में ऑक्सीजन बांटना शुरू किया है। इसी के साथ ही इस प्लांट में ऑक्सीजन रिफिलिंग का काम भी होता है। इस ऑक्सीजन प्लांट की क्षमता 21 टन है। इस लिहाज से हम रोजाना तकरीबन 14 टन ऑक्सीजन भरते हैं। हालात विकट हैं, इसलिए यहां पर 24 घंटे कर्मचारी काम कर रहे हैं। जब तक हालात काबू में नहीं आते, हमारा यह प्रयास जारी रहेगा। 

दिल्ली पुलिस ने कई अस्पतालों में पहुंचाई ऑक्सीजन

बताया जा रहा है कि पिछले 2 दिन के दौरान दिल्ली के कई अस्पतालों में ऑक्सीजन के खत्म होने या फिर कम होने की बात सामने आई थी। इस पर दिल्ली पुलिस ने इसी प्लांट से ऑक्सीजन विभिन्न अस्पतालों में पहुंचाई, जिससे लोगों की जान बचाई जा सकी।

ये भी पढ़ेंः दिल्ली को रोजाना 700 टन आक्सीजन चाहिए, संकट की घड़ी में करें मददः केजरीवाल 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021