फरीदाबाद [अनिल बेताब]। स्मार्ट सिटी फरीदाबाद में वैसे तो पूर्वांचल वासियों की कई संस्थाएं सक्रिय हैं, जो धर्म-संस्कृति से जुड़े कार्यक्रमों के माध्यम से सेवा कर रही हैं। इनमें पूर्वी सेवा समिति सबसे अलग है, जो कई धर्मों के लोगों को साथ लेकर चल रही है। यह समिति एक तरफ छठ पूजा महोत्सव के माध्यम से जहां पूर्वांचल के सांस्कृतिक परिवेश का अहसास कराने में लगी है, वहीं भाईचारा कायम रखने में भी बड़ी भूमिका निभा रही है।

धर्म-जाति को लेकर कोई भेदभाव नहीं
आठ वर्षों से सक्रिय समिति में कई पदाधिकारी और सदस्य मुस्लिम हैं तो सिख भी हैं, धर्म-जाति को लेकर कोई भेदभाव नहीं। समिति की ओर से एसजीएम नगर के बौद्ध विहार पार्क में 11 नवंबर से 14 नवंबर तक छठ पूजा महोत्सव का आयोजन किया जाएगा। इसकी तैयारियों में हिंदू, मुस्लिम और सिख मिल कर जुटे हुए हैं।

पूजा स्थल और घाट को संवारा है
पूर्वी सेवा समिति के अध्यक्ष सुनील सिंह का कहना है कि 'हमें खुशी है कि हिंदू-मुस्लिम मिलकर छठ पूजा स्थल को संवारने का काम करते हैं। इस बार भी सबने मिलकर पूजा स्थल और घाट को संवारा है। हम छठ पूजा के अलावा वर्ष में तीन-चार बार रक्तदान शिविर भी लगाते हैं।' 

पूर्वी सेवा समिति के सदस्य सरदार हरपाल सिंह कहते हैं कि 'छठ जैसे पर्व समाज को जोड़ते हैं। सबकी अपनी-अपनी आस्था है। फिर भी आपसी एकजुटता कायम रखने के  लिए सबको मिल कर चलना चाहिए।'  

पूर्वी सेवा समिति के सलाहकार ग्यासुद्दीन अंसारी का कहना है कि 'मेरा अल्लाह-रसूल में यकीन है और मैं सभी देवी-देवताओं का एहतराम करता हूं। भाईचारा कायम रखने के मकसद से पूर्वी सेवा समिति से जुड़ा हूं।' 

पूर्वी सेवा समिति के सदस्य अफजल अंसारी कहते हैं कि 'मुझे इस बात की खुशी है कि मैं छठ महोत्सव में शिरकत करता हूं। सेवा करना पुण्य का काम है। मैं तो सेवाभाव से ही समिति से जुड़ा हूं।'