रेवाड़ी, जेएनएन। छत्तीसगढ़ के जिला कांकेर में नक्सलियों के विरुद्ध चल रहे अभियान में शामिल यहां के गांव छव्वा निवासी सीमा सुरक्षा बल के सहायक उप निरीक्षक राजकुमार की बृहस्पतिवार को मस्तिष्काघात (ब्रेन स्ट्रोक) से मौत हो गई। मस्तिष्क आघात के बाद उन्हें रायपुर के अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

एएसआइ के पद पर थे तैनात 
उनका पार्थिव शरीर शुक्रवार की देर रात गांव छव्वा पहुंचने की संभावना है। जवान की मौत की सूचना के बाद गांव में माहौल गमगीन है। 49 वर्षीय राजकुमार बीएसएफ की 82 बटालियन में एएसआइ के पद पर तैनात थे तथा वर्तमान में छत्तीसगढ़ के जिला कांकेर में नक्सल विरोध अभियान में तैनात थे।

ड्यूटी के दौरान हुआ ब्रेन हैमरेज
ड्यूटी के दौरान उन्हें ब्रेन हैमरेज हो गया। उन्हें उपचार के लिए रायपुर के श्रीनारायण अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई। जवान की मौत की सूचना के बाद गांव छव्वा में माहौल गमगीन हो गया। अभी परिवार को जवान के निधन की सूचना नहीं दी गई है। जिला कांकेर प्रशासन की ओर से स्थानीय जिला प्रशासन को जवान के शव के देर रात पहुंचने की सूचना दी गई है। शनिवार को गांव छव्वा में उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।

 

Posted By: Prateek Kumar