नई दिल्ली (जेएनएन)। भीषण गर्मी, उमस के बीच धूलभरी हवाओं ने दिल्ली के साथ एनसीआर के लोगों को भी परेशान कर दिया है। दिल्ली की हवा इस कदर जहरीली हो गई है कि लोगों को सांस लेने में परेशानी हो रही है। सिरदर्द, सांस लेने में परेशानी जैसी समस्याएं लेकर लोग अस्पताल पहुंच रहे हैं। बच्चों और बुजुर्गों की हालत कुछ ज्यादा ही खराब है। 

बता दें कि धूल भरी हवाओं के चलते दिल्ली के साथ एनसीआर में भी लगातार तीसरे दिन प्रदूषण गंभीर स्तर तक पहुंच गया। बताया जा रहा है कि अगले तीन-चार दिन तक इससे राहत मिलने की उम्मीद भी नहीं है। मौसम विभाग के अनुसार 17 जून को बारिश हो सकती है। इसके बाद ही धूल और प्रदूषण से राहत मिल सकती है।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) ने लोगों को ऐसी स्थिति में घर से बाहर नहीं निकलने की सलाह दी है।ईरान-दक्षिण अफगानिस्तान की तरफ से धूल भरी हवाएं 20 हजार फीट की ऊंचाई से राजस्थान से होते हुए दिल्ली में दस्तक दे रही हैं। यही वजह है कि राजस्थान से चल रही धूल भरी आंधी ने दिल्ली-एनसीआर वालों का सांस लेना मुश्किल कर दिया है। दिल्ली से सटे नोएडा, गाजियाबाद, गुरुग्राम, फरीदाबाद और सोनीपत में हालत ज्यादा खराब हैं।

डॉक्टरों की सलाह

1. दिल्ली में धूल भरा मौसम की वजह से लोगों में स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं पैदा हो रही हैं।

2. दमा, किडनी, ब्लड प्रेशर और मधुमेह के मरीज़ों के लिए यह जहरीली हवा ज्यादा परेशानी पैदा कर रही है।

3. अस्पतालों में आने वाले मरीज़ों में बच्चों और वृद्धों की संख्या बढ़ रही है। धूल के कण हवा के रास्ते सांस की नली में पहुंच रहे हैं, जिससे गला चोक हो रहा है।

4. हवा में धूल का स्तर होने से सांस लेने में परेशानी हो रही है।

5. इस समय गर्भवती महिलाओं और किडनी के मरीज़ों को खासी सावधानी बरतने की ज़रूरत है।

किन मरीज़ों को हो सकती है परेशानी

ब्लड प्रेशर 

हार्ट

मधुमेह

किडनी के मरीज़ों को

छोटे बच्चो को परेशानी

गर्भवती महिलाओं

आंख और त्वचा की बीमारी

क्या सावधानी बरतें

डॉक्टर एम वली (सीनियर कंसलटेंट, सर गंगा राम हॉस्पिटल) के मुताबिक केवल जरूरत पड़ने पर ही घर से बाहर निकलें। बाहर निकले की स्थिति में अपने सिर, नाक और आंखों को अच्छी तरह से ढकें। मास्क लगाकर घर से निकले केवल N-5 मास्क का ही इस्तेमाल करें। तरल पदार्थ का खुद सेवन करें खुद को हाइड्रेटेड रखें। नींबू का सेवन करें। नीबू में विटामिन सी होता है। जो की एंटी ऑक्सीडेंट होता है। अपने शरीर को अच्छी तरह से पानी से धोएं। साबुन का सेवन कर सकते हैं। फेस वाश का इस्तेमाल न करें।

Posted By: JP Yadav