राज्य ब्यूरो, नई दिल्ली : फेज तीन की परियोजनाओं के तहत द्वारका व नजफगढ़ के बीच निर्माणाधीन 4.29 किलोमीटर लंबी मेट्रो लाइन का निर्माण कार्य पूरा होने का समय एक बार फिर बढ़ा दिया गया है। दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) ने अब इस मेट्रो लाइन का निर्माण दिसंबर 2018 में पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया है। ऐसे में द्वारका से नजफगढ़ के बीच वर्ष 2019 के शुरुआत में ही मेट्रो का परिचालन शुरू हो पाएगा। इस लाइन पर परिचालन शुरू होने से नजफगढ़ और आसपास के ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को फायदा होगा।

इस मेट्रो लाइन का निर्माण दिसंबर 2016 तक पूरा करने का लक्ष्य था, पर जमीन विवाद के चलते इसका निर्माण कार्य प्रभावित हुआ। बाद में दिल्ली मेट्रो ने इस साल के अंत तक इसका निर्माण पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया था। वर्तमान समय में इस मेट्रो लाइन का 72 फीसद कार्य पूरा हो चुका है। इसे ध्यान में रखते हुए अब अगले साल के अंत में इसका निर्माण पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। नजफगढ़ मेट्रो नेटवर्क के जरीये सीधे नोएडा व गाजियाबाद से जुड़ जाएगा। इससे नजफगढ़ से नोएडा व गाजियाबाद पहुंचना आसान हो जाएगा। इस मेट्रो लाइन का 2.75 किलोमीटर हिस्सा एलिवेटेड और 1.54 किलोमीटर हिस्सा भूमिगत होगा। इस पर तीन मेट्रो स्टेशन द्वारका, नंगली सकरावती व नजफगढ़ प्रस्तावित हैं। द्वारका व नंगली सकरावती मेट्रो स्टेशन एलिवेटेड होंगे, जबकि नजफगढ़ स्टेशन भूमिगत होगा।

यह मेट्रो लाइन ब्लू लाइन (द्वारका-नोएडा सिटी सेंटर/वैशाली) मेट्रो लाइन की विस्तार परियोजना है। इसका निर्माण पूरा होने पर नजफगढ़ से सवा घंटे में यात्री नोएडा व गाजियाबाद पहुंच सकेंगे। नजफगढ़ के लोगों के लिए आनंद विहार रेलवे स्टेशन पहुंचना भी आसान हो जाएगा। इसके अलावा राजीव चौक स्टेशन पर मेट्रो बदलकर आसानी से नई दिल्ली व पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन भी पहुंच सकेंगे। हाल ही में केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय ने द्वारका-नजफगढ़ मेट्रो लाइन को बढ़ाकर ढांसा बस स्टैंड तक निर्माण करने की मंजूरी दे दी है।

Posted By: Jagran