जागरण संवाददाता, नई दिल्ली :

नई दिल्ली नगरपालिका परिषद ने अपने लक्ष्य दो लाख पौधों से बढ़कर इस वर्ष पांच लाख पौधे लगाने का दावा किया है। पालिका परिषद के चेयरमैन ने बताया कि एनडीएमसी ने सवा चार लाख पौधे और 30 हजार से ज्यादा पेड़ों की विभिन्न किस्मों के पौधे लगाए गए हैं। उन्होंने दावा किया कि एनडीएमसी ने ऐसा करके नया रिकार्ड बनाया है।

एनडीएमसी के चेयरमैन नरेश कुमार ने बताया कि केंद्रीय मंत्रियों, सासदों, न्यायाधीशो, राजनयिकों, केंद्र सरकार के वरिष्ठतम अधिकारियों, मीडियाकर्मियों, आध्यात्मिक-सास्कृतिक सगठनों, आवासीय कल्याण समितियों, मार्केट-ट्रेडर्स एसोसिएशनो, स्कूली बच्चों के साथ उद्यान विभाग के समस्त कर्मचारियों की समर्पित और सक्रिय भागीदारी से नई दिल्ली नगरपालिका परिषद ने इस साल के बरसाती मौसम में अपने दो लाख पौधे लगाने के निर्धारित लक्ष्य की तुलना में पांच लाख पौधे लगाकर कीर्तिमान स्थापित किया है ।

इस अभियान की जानकारी देते हुए पालिका परिषद अध्यक्ष ने कहा कि जो पांच लाख पौधे लगाए गए हैं उनमें 30,000 पौधे बड़े और मध्यम दर्जे के हैं जबकि 4.70 लाख पौधे सजावटी और औषधीय प्रजातियों के हैं । औषधीय प्रजातियों के अश्वगंधा, ब्राह्माी, हल्दी, अर्जुन, आवला, रुद्राक्ष, एलोविरा जैसे पौधे नेताजी नगर के सुभाष पार्क, लोधी गार्डन, चाणक्यपुरी के नेहरू पार्क, लक्ष्मीबाई नगर के संजय झील पार्क में लगाए गए हैं ।

इस अभियान में बड़े और मध्यम दर्जे के पौधे जैसे नीम, पीपल, जामुन, गुलमोहर आदि नई दिल्ली की मुख्य सड़कों के दोनों किनारों, मुख्य पार्को, विद्यालय परिसरों और बड़े उद्यानों में लगाए गए हैं। फलदार वृक्ष जैस अमरूद, आम, जामुन बेर इत्यादि के पौधे भी इस पौधरोपण अभियान में चाणक्यपुरी स्थित डिप्लोमेटिक एरिया में विभिन्न देशों के राजदूतावास और उच्चायोग परिसरों में लगाए गए हैं । अब चुनौती इन पौधों की देखरेख का है। मौजूदा समय में पौधों के जीवित रहने की दर 79 प्रतिशत है, जिसे बढ़ाने के लिए उद्यान विभाग के कर्मचारियों को निर्देश दे दिए गए हैं।

पांच किलोमीटर रोड पर लगेंगे खुशबूदार पौधे

धौला कुआ मेट्रो स्टेशन से डॉ राम मनोहर लेाहिया अस्पताल के बीच पाच किलोमीटर लंबे मार्ग पर फूलदार और सुगंधित पौधों की एक सुव्यस्थित, कलात्मक निमार्ण करने की योजना पर काम शुरू कर दिया गया है। इस योजना के अंतर्गत इस मार्ग के दोनों ओर ऊंचाई पर उद्यान क्यारियों का निर्माण किया जाएगा। इन उद्यान क्यारियों में कुंदों से लटकाई जाने वाली मौसम के अनुकूल फूलदार तथा सुगंधित पौधे लगी टोकरियों का प्रयोग किया जाएगा। इन फूलदार टोकरियों को मौसम के अुनसार बदला जाता रहेगा। इन सजावटी और सुगंधित लंबी क्यारियों में फूल पौधों से बनी मानव और अन्य वन्यजीवों की सजावटी मनमोहक आकृतिया भी प्रदर्शित की जाएंगी।