नई दिल्ली। जेएनयू मामले पर छात्रों पर लगे देशद्रोह के आरोपों को हटाने के लिए छात्र अगले माह की 2 तारीख को संसद तक मार्च करेंगे। छात्र इस मुद्दे को लेकर गृह मंत्री राजनाथ सिंह और राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से भी मुलाकात करेंगे।

JNU मामले को लेकर राहुल गांधी के खिलाफ BJYM का प्रदर्शन

जेएनयू छात्र संघ की उपाध्यक्ष शेहला राशिद शोरा ने शनिवार को विश्वविद्यालय के एडमिन ब्लॉक पर आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि हम अपने साथियों पर लगे देशद्रोह के आरोपों को हटवाने के लिए हम अपना आंदोलन जारी रखेंगे। इसी क्रम में हम 2 मार्च को संसद तक मार्च करेंगे। इसके अलावा हमने देश के गृहमंत्री राजनाथ सिंह, राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी से मिलकर अपनी बात उनके सामने रखने का भी फैसला किया है।

2 दिनों के लिए बढ़ाई गई उमर खालिद व अनिर्बान की पुलिस हिरासत

शेहला ने कहा कि इस मामले को लेकर छात्र प्रधानमंत्री कार्यालय, राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग और अल्पसंख्यक आयोग भी जाएंगे। केंद्र सरकार जेएनयू में पुलिस की कार्रवाई को लगातार सही बता रही है और प्रारंभिक जांच को संसद में उच्चस्तरीय जांच कमेटी की रिपोर्ट कहकर पेश किया गया जो गलत है।

मुरथल कांड में ट्रक चालक का खुलासा,'1984 के दंगों से भी खौफनाक मंजर था'

शेहला ने कहा कि देशद्रोह कानून का तेजी से गलत इस्तेमाल किया जा रहा है। हम इस कानून को खत्म करने के लिए आवाज उठाएंगे। इसके अलावा हम एनएचआरसी और अल्पसंख्यक आयोग में जाकर दिल्ली पुलिस के कामकाज की शिकायत करेंगे। उनके मुताबिक 29 फरवरी को हम एडमिन ब्लॉक पर धरना-प्रदर्शन करेंगे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस