अभिषेक त्रिपाठी, लंदन। 2013 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने वाले क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर का जलवा आज भी है और जब भी वह स्टेडियम में आते हैं तो सचिन-सचिन के नारे लगने लगते हैं। जब सचिन बल्लेबाजी के लिए मैदान में उतरते थे तो पूरा मैदान सचिन-सचिन से गूंजने लगता था, लेकिन नवंबर 2013 के बाद यह थम गया। वैसा ही नजारा रविवार को यहां भारत-ऑस्ट्रेलिया मैच के दौरान देखने को मिला।

सचिन तेंदुलकर विश्व कप में पहली बार कमेंट्री कर रहे हैं और रविवार को वह मैच से पहले आने वाले कार्यक्रम के लिए मैदान पर थे। जब वह सुनील गावस्कर के साथ मैदान से बाहर की तरफ आ रहे थे तो पूरा स्टेडियम सचिन-सचिन के नारे से गूंज गया। उन्होंने भी हाथ हिलाकर सभी का अभिवादन किया।

नीला हुआ स्टेडियम

भारत ने इस विश्व कप का पहला मुकाबला साउथैंप्टन में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेला था और उस दौरान रोज बाउल स्टेडियम में चारों तरफ भारतीय प्रशंसक ही दिखाई दे रहे थे, लेकिन रविवार को यहां ओवल स्टेडियम पूरी तरह नीला हो गया था। मैच शुरू होने से पहले जब दोनों टीमों का राष्ट्रगान हुआ तो इसका अंतर साफ दिखाई दे रहा था। पहले ऑस्ट्रेलिया का राष्ट्रगान हुआ, उसके बाद जन गण मन गाया गया। जैसे ही भारतीय राष्ट्रगान बजा पूरा स्टेडियम जन गण मन से गूंज गया। यहां मौजूद हर भारतीय उसे गा रहा था। माहौल ऐसा था कि आत्मसम्मान के कारण किसी के भी रोंगटे खड़े हो सकते थे। 23500 दर्शक क्षमता वाले इस स्टेडियम में 1000 से ज्यादा गैर भारतीय दर्शक नहीं थे। कुल मिलाकर भारतीय टीम को विश्व कप में दर्शकों का पूरा समर्थन मिल रहा है और उसे बिलकुल ऐसा नहीं लग रहा है कि यह टीम भारत से बाहर खेल रही है। यहां पर मैच देखने आए भारतीय समर्थक चिंटू कुमार ने कहा कि अभी तो दो मैच हुए हैं। यहां रहने वाले ऐसे कुछ ही भारतीय होंगे जो विश्व कप का कम से कम एक मैच नहीं देख रहे हों। यहां पर भारतीय टीम के लिए सबसे ज्यादा क्रेज है और जिसको जो भी टिकट मिल रही है वह मैच देखने आ रहा है। उन्होंने कहा कि हजारों लोग भारत से भी यहां मैच देखने आए हैं।

फिर लगे चीटर-चीटर के नारे

46वें ओवर में जब हार्दिक पांड्या ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों की कुटाई कर रहे थे तो कप्तान आरोन फिंच ने पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ को थर्ड मैन की तरफ लगाया। उनके बाउंड्री के पास पहुंचते ही उत्साहित भारतीय समर्थकों ने चीटर-चीटर के नारे लगाने शुरू कर दिए। हालांकि, अगली ही गेंद पर हार्दिक पांड्या आउट हो गए। इसके बाद भारतीय समर्थक कोहली-कोहली चिल्लाने लगे। इसके बाद कोहली ने भारतीय समर्थकों को इशारा किया कि वह उनका नहीं शानदार पारी खेलकर जा रहे हार्दिक का उत्साह बढ़ाएं। उनका इशारा देखते ही सभी भारतीय समर्थकों ने हार्दिक का अभिवादन किया।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस