बर्मिघम, प्रेट्र। लुंगी नगिदी की वापसी से मजबूत हुई दक्षिण अफ्रीका की टीम बुधवार को न्यूजीलैंड का सामना करने उतरेगी। दोनों टीमें जब मैदान पर उतरेंगी तो दक्षिण अफ्रीकी टीम का इरादा 2015 के विश्व कप के सेमीफाइनल में मिली हार का बदला लेने का होगा, जबकि न्यूजीलैंड की टीम फिर से अंक तालिका में अपना शीर्ष स्थान वापस पाना चाहेगी।

दक्षिण अफ्रीका को विश्व कप के पिछले संस्करण में न्यूजीलैंड के हाथों हार का सामना करना पड़ा था। हालांकि, इस बार उसका विश्व कप अभियान बेहद निराशाजनक अंदाज में शुरू हुआ। उसे अंक तालिका में सबसे निचले पायदान पर काबिज अफगानिस्तान की टीम के खिलाफ एकमात्र जीत मिली है, लेकिन उससे पहले उसे शुरुआती तीन मैचों में हार का मुंह देखना पड़ा, जबकि उसके बाद अगला मुकाबला बारिश की वजह से धुल गया था।

तेज गेंदबाज डेल स्टेन और एनरिच नात्र्जे के चोटिल होने के बाद दक्षिण अफ्रीकी की गेंदबाजी कमजोर हुई है। नगिदी के पूरी तरह से फिट होकर लौटने और टीम के आखिरकार जीत का स्वाद चख लेने के बाद कप्तान फाफ डुप्लेसिस राहत की सांस लेंगे। एजबेस्टन की टर्न लेती पिच पर अनुभवी स्पिनर इमरान ताहिर पर बहुत कुछ निर्भर करेगा। बल्लेबाजी में हाशिम अमला और क्विंटन डिकॉक ने पिछले मैच में अच्छा प्रदर्शन किया था।

उधर, स्पिनरों के खिलाफ दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजों के खराब रिकॉर्ड के कारण न्यूजीलैंड की टीम लेग स्पिनर ईश सोढ़ी को मिशेल सेंटनर के साथ उतार सकती है। न्यूजीलैंड की बल्लेबाजी का दारोमदार कप्तान केन विलियमसन, रॉस टेलर, कोलिन मुनरो और मार्टिन गुप्टिल उठाएंगे।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sanjay Savern