नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान रोहित शर्मा के नाम वनडे में तीन दोहरे शतक हैं। श्रीलंका के खिलाफ खेली गई 264 रन की पारी वनडे क्रिकेट के इतिहास की सबसे बड़ी पारी है। हालिया दिनों में इस फॉर्मेट के बोरिंग होने और इसे खत्म किए जाने को लेकर कई बयान सामने आए हैं। रोहित से जब वनडे को लेकर पूछा गया तो उनका जवाब बहुत ही शानदार था।

रोहित ने एक ब्रैंड प्रमोशन पर वनडे क्रिकेट को लेकर किए गए सवाल पर कहा, "मेरा तो नाम ही वनडे क्रिकेट से बना है, सब बेकार की बातें हैं। देखिए इससे पहले लोग टेस्ट क्रिकेट के बारे में बातें कर रहे थे। मेरे लिए तो क्रिकेट बहुत ही महत्वपूर्ण है- चाहे वो कोई भी फॉर्मेट का हो। मैं तो यह बात कभी कहने ही नहीं वाला कि वनडे क्रिकेट या टी20 क्रिकेट या फिर टेस्ट क्रिकेट अब अपने अंत के करीब है।"

क्रिकेट खेलना मेरा सपना था

"मैं तो बल्कि यह उल्टा करता हूं कि इसका कोई और भी फॉर्मेट आ जाना चाहिए। देखो मेरे लिए तो यह खेल खेलना ही बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण है। जब मैं छोटा बच्चा था तब से ही इसी एक चीज का सपना देखा करता था कि देश के लिए भारत की तरफ से खेलने का मौका मिले। हम जब कभी भी वनडे क्रिकेट खेलने जाते हैं तो पूरा स्टेडियम खचाखच भरा होता है, लोगों के अंदर का जोश उतना ही उंचा रहता है।"

Ind vs Zim: 5 ओपनर्स के साथ जिम्बाब्वे दौरे पर पहुंची टीम इंडिया, कितने बैठेंगे बेंच पर और कितनों को मिलेगा मौका

"यह किसी की भी अपनी अपनी पसंद हो सकती है कि वो किस एक फॉर्मेट को खेलना पसंद करता है या फिर पसंद नहीं करता है लेकिन मेरे लिए तो ये क्रिकेट के तीनों के तीनों ही फॉर्मेट बहुत ही महत्वपूर्ण हैं।"  

Edited By: Viplove Kumar