मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

चेन्नई, जेएनएन। भारत और वेस्टइंडीज़ के बीच तीसरा टी-20 मैच चेन्नई में खेला जाएगा। तीसरे और आखिरी मैच में टीम इंडिया की नज़र कैरेबियाई टीम का क्लीन स्वीप करने पर होगी। इसके साथ ही साथ रोहित एंड कंपनी अपनी बैंच स्ट्रैंथ को भी आजमाना चाहेगी। 

फैंस को खलेगी धौनी की कमी

चेन्नई के क्रिकेट के दीवाने प्रशंसकों को हालांकि अपने पसंदीदा महेंद्र सिंह धौनी की कमी खलेगी जो टी-20 टीम का हिस्सा नहीं हैं। धौनी चेन्नई की आइपीएल टीम चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान भी हैं तो ऐसे में स्थानीय फैंस के लिए धौनी का टीम में न होना निराश होने की एक और बड़ी वजह रहेगी।

कप्तान रोहित शर्मा के शानदार शतक की बदौलत लखनऊ में ही 2-0 से सीरीज़ अपने नाम करने के बाद अब मेजबान टीम श्रेयस अय्यर, वॉशिंगटन सुंदर और शाहबाज नदीम को ऑस्ट्रेलिया दौरे पर रवाना होने से पहले मौका देना चाहेगी।

बुमराह, उमेश और कुलदीप को आराम

चयनकर्ताओं ने रविवार को होने वाले मैच से तेज गेंदबाजों जसप्रीत बुमराह और उमेश यादव तथा स्पिनर कुलदीप यादव को आराम देने का फैसला किया है जिससे कि ऑस्ट्रेलिया दौरे से पहले वे अपनी सर्वश्रेष्ठ फिटनेस हासिल कर सकें। इन तीनों का आराम दिया गया है तो तेज गेंदबाज सिद्धार्थ कौल को टीम में शामिल किया गया है।

ऐसा रहेगी पिच का हाल

हाल के मैचों में चेपक की पिच धीमी रही है लेकिन रविवार के मैच के लिए तैयार की गई पिच से बल्लेबाजों को मदद मिलने की उम्मीद है।

धवन और राहुल को भी खेलनी होगी बड़ी पारी

लखनऊ टी-20 के दौरान कप्तान रोहित शानदार लय में दिखे लेकिन वेस्टइंडीज की गेंदबाजी में निरंतरता की कमी के बावजूद अन्य बल्लेबाज उम्दा योगदान देने में विफल रहे हैं। कप्तान के सलामी जोड़ीदार शिखर धवन, लोकेश राहुल और रिषभ पंत ऑस्ट्रेलिया दौरे से पहले इस मैच में रन जुटाना चाहेंगे।

स्थानीय खिलाड़ी दिनेश कार्तिक ने कम स्कोर वाले पहले टी-20 में भारत को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी और वह घरेलू दर्शकों के सामने एक बार फिर अच्छी पारी खेलना चाहेंगे।

वेस्टइंडीज के बल्लेबाजों को लगातार परेशान करने वाले बुमराह और कुलदीप को आराम दिए जाने के बाद जल्द विकेट चटकाने की जिम्मेदारी भुवनेश्वर कुमार और युवा खलील अहमद की तेज गेंदबाजी जोड़ी पर होगी।

कुलदीप की गैरमौजूदगी में स्पिन विभाग में युजवेंद्र की वापसी हो सकती है जबकि कृणाल पंड्या के पास अपने अंतरराष्ट्रीय करियर की प्रभावी शुरुआत को आगे बढ़ाने का मौका होगा। हालांकि यह देखना होगा कि टीम प्रबंधन चेन्नई के वाशिंगटन सुंदर को अय्यर के साथ मौका देता है या नहीं।

विंडीज़ के पास साख बचाने का मौका 

एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय श्रृंखला में भारत को प्रभावी टक्कर देने के बाद वेस्टइंडीज की टीम टी-20 में पूरी तरह से नाकाम रही है।

कप्तान कार्लोस ब्रेथवेट ने स्वीकार किया है कि उन्हें उपलब्ध खिलाड़ियों के साथ ही श्रृंखला का अंत सांत्वना भरी जीत के साथ करना होगा। कीरोन पोलार्ड, डेरेन ब्रावो और दिनेश रामदीन जैसे अनुभवी खिलाड़ी नाकाम रहे हैं जबकि ऊपरी क्रम में मौका दिए जाने के बाद शिमरोन हेटमायर भी उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर पाए।

गेंदबाजों में ओशाने थामस ने अपनी गति और विकेट हासिल करने की क्षमता से प्रभावित किया है लेकिन अन्य गेंदबाजों से उन्हें सहयोग नहीं मिला है।

कोलकाता में आइसीसी विश्व टी-20 के फाइनल में बेन स्टोक्स पर लगातार चार छक्कों के साथ वेस्टइंडीज को खिताब जिताने वाले कप्तान ब्रेथवेट अपने खिलाड़ियों को अपने प्रदर्शन से प्रेरित करने की कोशिश करेंगे।

टीमें इस प्रकार हैं:

भारत

रोहित शर्मा (कप्तान), शिखर धवन, लोकेश राहुल, दिनेश कार्तिक, मनीष पांडे, श्रेयस अय्यर, रिषभ पंत, कृणाल पांड्या, वॉशिंगटन सुंदर, युजवेंद्र चहल, भुवनेश्वर कुमार, खलील अहमद, शाहबाज नदीम और सिद्धार्थ कौल।

वेस्टइंडीज

कार्लोस ब्रेथवेट (कप्तान), डेरेन ब्रावो, शिमरोन हेटमायर, शाई होप, ओबेद मैकाय, कीमो पाल, खेरी पियरे, कीरोन पोलार्ड, निकोलस पूरण, रोवमैन पावेल, दिनेश रामदीन, शेरफेन रदरफोर्ड और ओशाने थामस।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pradeep Sehgal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप