किंग्सटन, एपी। आयरलैंड ने तीसरा व अंतिम वनडे क्रिकेट मैच दो विकेट से जीतकर वेस्टइंडीज पर सीरीज में 2-1 से ऐतिहासिक जीत दर्ज की। वेस्टइंडीज को 45 ओवर में 212 रन पर आउट करने के बाद आयरलैंड ने 45 ओवर में आठ विकेट पर 214 रन बनाते हुए जीत हासिल की। आयरलैंड ने पहला वनडे मैच हारने के बाद जबरदस्त वापसी की और अगले दोनों मैच जीतकर सीरीज पर अपना कब्जा जमाया। इसके साथ ही कोरोना महामारी के बीच आयरलैंड का दो देशों का दौरा भी खत्म हो गया। आयरलैंड को टी-20 सीरीज में मेजबान अमेरिका ने हराया था।

आइसीसी के किसी पूर्णकालिक सदस्य के खिलाफ घर से बाहर आयरलैंड ने पहली बार वनडे सीरीज जीती है। यह पूर्णकालिक सदस्य के खिलाफ वनडे सीरीज में उसकी दूसरी जीत है। उसने अपनी धरती पर 2019 में जिंबाब्वे को हराया था। लक्ष्य का पीछा करते हुए आयरलैंड ने पहली ही गेंद पर विलियम पोर्टरफील्ड (0) का विकेट गंवा दिया, लेकिन इसके बाद उसके बल्लेबाजों ने संयम नहीं खोया।

कार्यवाहक कप्तान पाल स्टर्लिंग ने 38 गेंद में पांच चौकों और एक छक्के की मदद से 44 रन बनाए। तीसरे नंबर पर उतरे एंडी मैकब्रायन ने 100 गेंद में 59 रन की पारी खेली। इससे पहले उन्होंने गेंदबाजी करते हुए 26 रन देकर चार विकेट भी लिए, जिससे उन्हें मैन आफ द मैच और मैन आफ द सीरीज चुना गया। चौथे नंबर पर उतरे हैरी टेक्टर ने तीन मैचों में तीसरा अर्धशतक जमाते हुए 76 गेंद में 52 रन बनाए। अकील हुसैन ने इसके बाद तीन गेंद में दो विकेट लेकर वेस्टइंडीज को मैच में लौटाने की कोशिश की, लेकिन क्रेग यंग (नाबाद 5) ने चौका लगातर आयरलैंड को 5.1 ओवर बाकी रहते जीत तक पहुंचाया।

इससे पहले आयरलैंड ने टास जीतकर वेस्टइंडीज को पहले बल्लेबाजी का न्योता दिया। उसके लिए सलामी बल्लेबाज शाई होप ने 37 गेंद में अर्धशतक जमाया लेकिन दूसरे छोर से उन्हें सहयोग नहीं मिल सका। होप ने 39 गेंदों पर नौ चौकों व एक छक्के की मदद से 53 रन बनाए। उनके अलावा जेसन होल्डर (44) ही कुछ उपयोगी योगदान दे सके। आयरलैंड की ओर से मैकब्रायन के अलावा क्रेग यंग ने भी तीन विकेट झटके।

Edited By: Sanjay Savern