कटक, प्रेट्र। शांतनु मिश्रा (62) और देबाशीष सामांत्री (68) ने यहां डीआरआइईएमएस ग्राउंड पर खेले जा रहे रणजी ट्रॉफी क्वार्टर फाइनल के दूसरे दिन शुक्रवार को ओडिशा की पारी को संभालने की कोशिश की। हालांकि बंगाल ने अहम समय पर इन दोनों को पवेलियन भेजकर मैच पर अपनी पकड़ बना ली। बंगाल ने अपनी पहली पारी में 332 रन बनाए।

ओडिशा ने दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक चार विकेट खोकर 151 रन बना लिए हैं। वह अभी भी बंगाल से 181 रन पीछे है। ओडिशा के लिए अनुराग सारंगी (5) और गोविंद पोडार (11) नहीं चले। अनुराग का विकेट 10 के कुल स्कोर पर गिरा। इसके बाद, मिश्रा तथा देबाशीष ने दूसरे विकेट के लिए 125 रनों की साझेदारी कर टीम को संभाला। देबाशीष 135 के कुल स्कोर पर आउट हो गए। 10 रन बाद मिश्रा भी पवेलियन लौट लिए। देबाशीष को नीलकांत दास ने आउट किया जबकि मिश्रा को शहबाज अहमद ने अपना शिकार बनाया।

इससे पहले, बंगाल ने दिन की शुरुआत छह विकेट के नुकसान पर 308 रनों के साथ की। टीम के बाकी चार विकेट 24 रनों का इजाफा कर पवेलियन लौट लिए। अनुस्तूप मजूमदार ने 239 गेंदों पर 22 चौकों की मदद से 157 रनों की पारी खेली। अहमद ने 82 रन बनाए।

जानी के शतक से सौराष्ट्र मजबूत

अंगोले। सौराष्ट्र ने यहां सीएसआर शर्मा कॉलेज ग्राउंड पर खेले जा रहे रणजी ट्रॉफी के क्वार्टर फाइनल में आंध्र प्रदेश के सामने पहली पारी में 419 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया और दूसरे दिन शुक्रवार का खेल खत्म होने तक आंध्र प्रदेश को भी दबाव में डाल दिया। दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक आंध्र प्रदेश ने अपने दो विकेट 40 रनों पर ही खो दिए। सीआर गणनश्वेर 22 रन बनाकर नाबाद हैं। टीम ने प्रशांत कुमार (1) और ज्योति साई कृष्णा (17) के विकेट खोए हैं।

इससे पहले सौराष्ट्र ने दिन की शुरुआत छह विकेट के नुकसान पर 226 रनों के साथ की थी। पहले दिन अर्धशतक पूरा कर नाबाद लौटने वाले चिराग जानी ने अपना शतक पूरा किया और 121 रन बनाए। उनके साथ ही प्रियंक मांकड़ ने पहले दिन के अपने स्कोर में इजाफा करते हुए 80 रनों की पारी खेली। धमेंद्र सिंह जडेजा ने 29 रन बनाए। चिराग ने अपनी पारी में 297 गेंदों का सामना कर 12 चौके मारे। मांकड ने 177 गेंदों की पारी में आठ चौके लगाए।

गुजरात के खिलाफ गोवा की खराब शुरुआत

वल्साड, प्रेट्र। गोवा सरदार वल्लबभाई पटेल स्टेडियम में खेले जा रहे रणजी ट्रॉफी क्वार्टर फाइनल में गुजरात द्वारा खड़े किए गए विशाल स्कोर के सामने अच्छी शुरुआत नहीं कर पाई। गुजरात ने अपनी पहली पारी आठ विकेट के नुकसान पर 602 रनों पर घोषित कर दी और फिर दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक गोवा के दो विकेट महज 46 रनों पर ही गिरा दिए।

गोवा ने जब अपना खाता भी नहीं खोला था, तब उसके दोनों ओपनर सुमिरन अमोनकर और वैभव गोवेकर पवेलियन लौट चुके थे। यहां से कप्तान अमित वर्मा और स्मित पटेल ने पारी को संभाला और दिन का खेल खत्म होने तक टीम को तीसरा झटका नहीं लगने दिया। अमित 31 और पटेल 15 रन बनाकर खेल रहे हैं। इससे पहले, गुजरात ने दिन की शुरुआत चार विकेट के नुकसान पर 330 रनों के साथ की।

पहले दिन के नाबाद बल्लेबाज पार्थिव पटेल और चिराग गांधी ज्यादा रनों का इजाफा नहीं कर पाए। पार्थिव छह रन और जोड़कर 124 के निजी स्कोर पर आउट हुए। उन्होंने अपनी पारी में 172 गेंदों का सामना कर 16 चौके मारे। गांधी नौ रन और जोड़कर 49 रनों पर आउट हो गए। रूश कालारिया ने नाबाद 118 और अक्षर पटेल ने 80 रन बना टीम को विशाल स्कोर दिया। रूश ने 185 गेंदों की अपनी पारी में 14 चौके और एक छक्क लगाया। अक्षर ने 113 गेंदों की पारी में 11 चौके मारे।

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

जागरण अब टेलीग्राम पर उपलब्ध

Jagran.com को अब टेलीग्राम पर फॉलो करें और देश-दुनिया की घटनाएं real time में जानें।