नई दिल्ली, जेएनएन। भारत और इंग्लैंड के बीच खेले जा रहे पांचवें टेस्ट मैच के तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक मेजबान टीम ने दूसरी पारी में दो विकेट के नुकसान पर 114 रन बना लिए हैं। अब इंग्लैंड की कुल बढ़त 154 रन की हो गई है। इस वक्त इंग्लैंड के बल्लेबाज एलिएस्टर कुक (46) व जो रूट (29) क्रीज पर मौजूद हैं। 

इससे पहले भारतीय टीम पहली पारी में 292 रन ही बना पाई और पहली इनिंग के आधार पर इंग्लैंड को 40 रन की बढ़त मिली थी। जबकि इंग्लैंड ने पहली पारी में 332 रन बनाए थे और इसके जबाव में भारत ने जडेजा के नाबाद 86 रन और विहारी के अर्धशतक के दम पर 292 रन बनाए थे।

इंग्लैंड के दो विकेट गिरे 

मैच की दूसरी पारी में भारतीय टीम को पहली सफलता तेज गेंदबाज शमी ने दिलाई। उन्होंने इंग्लिश ओपनर बल्लेबाज जेनिंग्स को 10 रन के निजी स्कोर पर क्लीन बोल्ड कर दिया। टीम इंडिया को दूसरी सफलता जडेजा ने दिलाई। उन्होंने मोइन अली को अपना शिकार बनाया और 20 रन के स्कोर पर क्लीन बोल्ड कर दिया। 

मैच की दूसरी पारी में भारत की तरफ से शमी और जडेजा को एक-एक विकेट मिले। 

विहारी और जडेजा ने लगाए अर्धशतक

मैच की पहली पारी में भारतीय ओपनर बल्लेबाज शिखर धवन सिर्फ तीन रन बनाकर स्टुअर्ट ब्रॉड का शिकार बने। सिर्फ तीन रन के स्कोर पर ब्रॉड ने उन्हें एलबीडब्ल्यू आउट किया। लोकेश राहुल पिछली गलतियों से सीखकर काफी संभलकर बल्लेबाजी कर रहे थे लेकिन सैम कुर्रन की गेंद पर वो गलत लाइन पर खेल गए और क्लीन बोल्ड हो गए। राहुल ने 53 गेंदों का सामना करते हुए 37 रन बनाए। अच्छी बल्लेबाजी कर रहे पुजारा का ध्यान भटका और वो एंडरसन की बाहर जाती गेंद को छेड़ बैठे। नतीजा विकेट के पीछे खड़े बेयरस्टो ने पुजारा का कैच लपक लिया। पुजारा ने 101 गेंदों का सामना करते हुए 37 रन बनाए। इसके बाद एंडरसन ने अजिंक्य रहाणे को बिना खाता खोले पवेलियन भेज दिया।

भारत को सबसे बड़ा झटका बेन स्टोक्स ने दिया, स्टोक्स ने विराट कोहली को स्लिप में जो रूट के हाथों कैच आउट करवाया। इसके बाद स्टोक्स ने रिषभ पंत को भी कुक के हाथों कैच आउट करवा भारत को छठा झटका दिया। हनुमा विहारी ने अपने डेब्यू टेस्ट मैच में ही अपने धैर्य का शानदार परिचय दिया। उन्होंने 124 गेंदों का सामना करते हुए 56 रन की पारी खेली। वो मोइन अली की गेंद पर बेयरस्टो के हाथों विकेट के पीछे लपके गए। इशांत शर्मा को मोइन अली ने 4 रन पर बेयरस्टो के हाथों कैच करवा दिया। मो. शमी को आदिल रशीद ने एक रन पर स्टुअर्ट ब्रॉड के हाथों कैच आउट करवाया। रवींद्र जडेजा ने बेहतरीन बल्लेबाजी की और 86 रन बनाकर नाबाद रहे। भारत का अंतिम विकेट बुमराह के तौर पर गिरा। वो बिना खाता खोले रन आउट हो गए। 

इंग्लैंड की तरफ से पहली पारी में गेंदबाजी करते हुए एंडरसन, स्टोक्स और मोइन अली ने दो-दो जबकि ब्रॉड, कुर्रन और आदिल रशीद ने एक-एक विकेट लिए। 

ऐसे गिरे इंग्लैंड के 10 विकेट

भारत को पहली सफलता रवींद्र जडेजा ने दिलाई, जडेजा ने 23 रन के स्कोर पर कीटन जेनिंग्स को राहुल के हाथों कैच आउट करवाया। इसके बाद अपना आखिरी टेस्ट खेल रहे कुक 71 रन बनाने के बाद बुमराह के शिकार बने। बुमराह ने कुक क्लीन बोल्ड कर भारत को दूसरी सफलता दिलाई। बुमराह ने इसके 3 गेंद बाद ही जो रूट को एलबीडबल्यू आउट कर दिया। इसके बाद जॉनी बेयरस्टो भी केवल 4 गेंद ही खेल पाए और बिना खाता खोले इशांत का शिकार बन गए। इशांत ने बेयरस्टो को पंत के हाथों कैच आउट करवाया। बेन स्टोक्स को जडेजा ने अपना दूसरा शिकार बनाया और भारत को पांचवीं सफलता दिलाई। 40 गेंदों का सामना कर 11 रन बनाने वाले स्टोक्स को जडेजा ने LBW आउट किया। 

इशांत ने भारत को छठी सफलता मोइन अली को आउट कर दिखाई। इशांत ने अली को 50 रन के स्कोर पर पंत के हाथों कैच आउट करवाया। इसके बाद सैम कुर्रन भी 2 गेंद से ज्यादा नहीं खेल पाए और इशांत की गेंद पर पंत को कैच देकर पवेलियन लौट गए। दूसरे दिन बुमराह ने आदिल राशिद को एलबीडबल्यू आउट कर भारत को 8वीं सफलता दिलाई। रवींद्र जडेजा ने भारत को 9वीं सफलता दिलाई। जडेजा ने ब्रॉड को केएल राहुल के हाथों कैच आउट करवाया। भारत को आखिरी सफलता जडेजा ने दिलाई। जडेजा ने 133 गेंदों पर 89 रन बनाने वाले जोस बटलर को रहाणे के हाथों कैच आउट करवा दिया। 

भारत की तरफ से पहली पारी में सबसे सफल गेंदबाज रवींद्र जडेजा रहे जिन्होंने चार विकेट लिए वहीं भारतीय तेज गेंदबाजों जसप्रीत बुमराह और इशांत शर्मा ने तीन-तीन विकेट लिए। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Lakshya Sharma