नई दिल्ली, जेएनएन। एक मैच पहले जो टीम शानदार बल्लेबाजी करते हुए आठ विकेट से जीत हासिल करती है, वही टीम दूसरे टी-20 मुकाबले में इंग्लैंड के खिलाफ बल्लेबाजी में जूझती नजर आती है। शुक्रवार को कार्डिफ में हुए दूसरे टी-20 मुकाबले में टीम इंडिया के साथ कुछ भी अच्छा नहीं हुआ। शीर्ष क्रम ढेर हो गया, कलाई के स्पिनरों का जादू नहीं चला। ऐसे में भारत को इंग्लैंड ने पांच विकेट से हराकर तीन मैचों की टी-20 सीरीज को 1-1 की बराबरी पर ला दिया। भारत ने 20 ओवर में पांच विकेट के नुकसान पर 148 रन बनाए थे। जवाब में इंग्लैंड ने एलेक्स हेल्स की बदौलत दो गेंद बाकी रहते यह मुकाबला पांच विकेट से जीत लिया।

इंग्लैंड ने किया पीछा : 149 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड की टीम भी भारत की तरह बल्लेबाजी में दबाव में दिखी। तीसरे ही ओवर में उमेश यादव ने जेसन रॉय को 15 रन पर क्लीन बोल्ड कर दिया। इसके बाद शानदार फॉर्म में चल रहे जोस बटलर भी 14 रन के निजी स्कोर पर यादव की गेंद पर कप्तान विराट कोहली को कैच थमाकर चलते बने। सातवें ओवर की आखिरी गेंद पर लेग स्पिनर युजवेंद्रा सिंह चहल ने जो रूट को नौ रन के स्कोर पर क्लीन बोल्ड करके इंग्लैंड की परेशानी बढ़ा दी। कप्तान इयोन मोर्गन ने एलेक्स हेल्स का अच्छा साथ दिया, लेकिन वह भी 17 रन के निजी स्कोर पर हार्दिक पांड्या की गेंद पर धवन को कैच देकर पवेलियन लौट गए। इसके बाद आए जॉनी बेयरस्टो ने जरूर तेजी से बल्लेबाजी करके 18 गेंद पर 28 रन जोड़े, लेकिन उन्हें भुवनेश्वर कुमार ने कुलदीप यादव के हाथों कैच कराकर वापस भेजा। दूसरे छोर पर दीवार की तरह खड़े हेल्स लगातार भारतीय गेंदबाजों के लिए मुश्किल खड़ी करते दिखे। आखिरी तीन ओवर में इंग्लैंड को 18 गेंद में 23 रन बनाने थे। यहां भुवनेश्वर कुमार ने अहम ओवर फेंकते हुए सिर्फ तीन रन दिए। इससे कुछ हद तक इंग्लैंड की मुसीबत बढ़ गई थी। अगले ओवर में यादव ने सिर्फ आठ रन दिए और इंग्लैंड को अब आखिरी ओवर में जीत के लिए 12 रन की दरकार थी। यहां हेल्स ने पहली ही गेंद पर छक्का लगाकर भारत की जीत की उम्मीद खत्म कर दी। इसके बाद हेल्स ने अगली गेंद पर चौका लगाया और अपना अर्धशतक पूरा किया। मैच की चौथी गेंद पर विली ने एक रन लेते ही इंग्लैंड को पांच विकेट से जीत दिला दी।

इससे पहले टॉस जीतकर इंग्लैंड ने भारत को पहले बल्लेबाजी का न्यौता दिया। भारत की शुरुआत बेहद ही खराब रही। दूसरे ओवर की आखिरी गेंद पर रोहित शर्मा एक बार फिर खराब शॉट खेलकर चलते बने। पांचवें ओवर में शिखर धवन भी 10 रन बनाकर रनआउट हो गए। पिछले मैच में शतक लगाने वाले केएल राहुल का बल्ला इस बार शांत रहा। तेज गेंदबाज लियाम प्लंकेट ने राहुल को क्लीन बोल्ड करके टीम इंडिया को तीसरा झटका दे दिया। 22 रन पर ही तीन विकेट गंवाने के बाद टीम इंडिया की मुश्किलें बढ़ गई। इसके बाद कप्तान विराट कोहली और सुरेश रैना ने भारतीय बल्लेबाजी को संभालना शुरू किया। तेज गेंदबाजों के मुफीद पिच पर दोनों ने संभलते हुए बल्लेबाजी करते हुए 10 ओवर में तीन विकेट के नुकसान पर टीम का स्कोर 52 रन पहुंचाया। पहली बार ब्रिटेन दौरे पर 30 रन से पार पहुंचे कप्तान कोहली का डेविड विली की गेंद पर जो रूट ने शानदार कैच लपककर पवेलियन भेज दिया। दूसरे छोर पर खड़े महेंद्र सिंह धौनी एक बार फिर संकटमोचक की भूमिका में नजर आए। शुरुआत में शांत बल्लेबाजी करने वाले धौनी ने अंतिम ओवरों में तेज बल्लेबाजी करते हुए भारतीय टीम को 148 रनों तक पहुंचाया। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

By Ravindra Pratap Sing