केप टाउन, पीटीआइ। तेज गेंदबाजों जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी और उमेश यादव ने शानदार गेंदबाजी करके भारत की बुधवार को तीसरे और आखिरी टेस्ट के दूसरे दिन दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वापसी कराई। बुमराह ने पांच विकेट झटके तो शमी ने तीन गेंद के अंदर दो विकेट निकाले जिससे दक्षिण अफ्रीका की टीम 210 रनों पर सिमट गई।

भारत ने पहली पारी में 223 रन बनाए थे और इस तरह मेहमानों को 13 रन की बढ़त भी मिल गई है। दक्षिण अफ्रीका की बढ़त की उम्मीद आखिर में मार्को जेनसेन और कीगन पीटरसन के कंधों पर थी लेकिन बुमराह ने दोनों बल्लेबाजों को आखिरी में आउट करके मेजबानों की बड़ी बढ़त लेने की उम्मीदें तोड़ दी। पीटरसन ने 166 गेंदों में 72 रनों की पारी खेली जिसमें नौ चौके शामिल रहे।

वहीं, जेनसेन 26 गेंदों में सात रन ही बना पाए। न्यूलैंड्स की पिच पर सेंचुरियन या वांडरर्स जैसा उछाल नहीं है। ऐसे में बुधवार की सुबह बुमराह ने शानदार गेंद पर मार्करैम का आफ स्टंप उखाड़ा क्योंकि बल्लेबाज को लगा कि गेंद सीधी आएगी और वह चकमा खा गए। महाराज को उमेश ने आउटस्विंगर पर बोल्ड किया। पीटरसन को दो बार जीवनदान मिला जब शार्दुल ठाकुर की गेंद पर पहली स्लिप में कोहली ने उनका कैच छोड़ा। इसके बाद कोहली ने दूसरी स्लिप में पहली स्लिप से कुछ कदम आगे आकर खड़े होने का फैसला किया क्योंकि गेंद सामने टिप्पा खा रही थी।

हालांकि इस दौरान भारतीय कप्तान ने स्लिप में दो कैच लपकने के साथ ही टेस्ट क्रिकेट में 100 कैच पूरे कर लिए। उमेश यादव की गेंद पर उन्होंने दूसरी स्लिप में रासी वान डेर डुसेन का कैच लपका। शमी ने 56वें ओवर में तेंबा बावुमा (28) और काइल वेरेन (0) को आउट करके मेजबान टीम को लगातार दो झटके दिए। बावुमा का कैच कोहली ने लपका जबकि वेरेन ने रिषभ पंत को कैच थमाया।

वहीं, बुमराह ने चाय से ठीक पहले मार्को जेनसेन को बोल्ड किया। भारतीय तेज गेंदबाजों ने चाय तक दक्षिण अफ्रीका को दबाव में ला दिया। चाय काल तक मेजबान टीम सात विकेट पर खो चुकी थी। चाय काल के बाद मेजबानों की कोशिश स्कोर बराबर करने की थी लेकिन बुमराह और ठाकुर ने ऐसा नहीं होने दिया। ठार्कुर ने रबादा को आउट करके अपनी टीम को बढ़त लेने की ओर अग्रसर किया तो वहीं, बुमराह ने नगिदी को आउट करके अपने पांच विकेट पूरे किए।

 

Edited By: Viplove Kumar