मुंबई, प्रेट्र। डेनी वाट (56), कप्तान हीथर नाइट (47) और जॉर्जिया एल्विस (नाबाद 33) की शानदार पारियों की मदद से इंग्लैंड की महिला क्रिकेट टीम ने तीसरे और अंतिम वनडे मैच में भारत को दो विकेट से हरा दिया। सीरीज 2-1 से भारत के नाम रही। भारत ने यहां वानखेड़े स्टेडियम में निर्धारित 50 ओवर में आठ विकेट पर 205 रन का स्कोर बनाया, जिसे इंग्लैंड ने 48.5 ओवर में आठ विकेट खोकर हासिल कर लिया।

भारत से मिले 206 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड ने एक समय 49 रन के अपने पांच विकेट गंवा दिए थे लेकिन निचले क्रम में वाट, एल्विस और कैथरीन ब्रंट (18) की उपयोगी पारियों ने विश्व चैंपियन इंग्लैंड को दो विकेट से जीत दिला दी और उसे सीरीज में क्लीन स्वीप होने से बचा लिया। वाट ने 82 गेंदों पर पांच चौके, नाइट ने 63 गेंदों पर छह चौके, एल्विस ने 53 गेंदों पर तीन चौके और ब्रंट ने 20 गेंदों पर एक चौका लगाया। उनके अलावा एमी जोंस ने 13 और टैमी ब्युमोंट ने 21 रन बनाए। भारत की ओर से झूलन गोस्वामी ने तीन, शिखा पांडे और पूनम यादव ने दो-दो जबकि दीप्ति शर्मा ने एक विकेट लिया।

इससे पहले, स्मृति मंधाना (66) और पूनम राउत (56) के अर्धशतकों की मदद से भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने इंग्लैंड के सामने जीत के लिए 206 रनों का लक्ष्य रखा, जिसे मेहमान टीम ने सात गेंद शेष रहते आठ विकेट खोकर हासिल कर लिया। भारत ने निर्धारित 50 ओवर में आठ विकेट पर 205 रन का स्कोर बनाया। भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। हालांकि मेजबान टीम की शुरुआत खराब रही और उसने एक रन के बाद ही जेमिमा रोड्रिग्ज (0) का विकेट गंवा दिया। इसके बाद मंधाना और राउत ने दूसरे विकेट के लिए 128 रनों की शानदार साझेदारी की। मंधाना टीम के 129 के स्कोर पर और राउत टीम के 131 के स्कोर पर तीसरे बल्लेबाज के रूप में आउट हुई। मंधाना ने अपने करियर का 16वां और राउत ने अपने करियर का 11वां अर्धशतक पूरा किया। मंधाना ने 74 गेंदों पर आठ चौके और एक छक्का जबकि राउत ने 97 गेंदों पर सात चौके लगाए। मंधाना को प्लेयर ऑफ द सीरीज का पुरस्कार मिला। मंधाना और राउत के आउट होने के बाद भारतीय टीम एक बार फिर लड़खड़ा गई। मेजबान टीम ने अपने बाकी पांच विकेट मात्र 74 रन जोड़कर ही गंवा दिए और टीम आठ विकेट पर 205 रनों तक ही पहुंच पाई। दीप्ति शर्मा ने 49 गेंदों पर दो चौकों की मदद से 27 और शिखा पांडे ने 41 गेंदों पर तीन चौकों की मदद से 26 रन बनाए। इंग्लैंड की ओर से कैथरीन ब्रंट ने सर्वाधिक पांच विकेट लिए और उन्हें प्लेयर ऑफ द मैच का पुरस्कार मिला।

जीत के लिए खेलीं कैथरीन : मिताली

मुंबई। तीसरे वनडे में इंग्लैंड के हाथों दो विकेट से मात खाने के बाद भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज ने कहा है कि टीम के मध्यक्रम को मजबूत करने की जरूरत है। साथ ही उन्होंने इंग्लैंड की ऑलराउंडर कैथरीन ब्रंट की भी खुलकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि बं्रट ने अकेले ही टीम में अंतर पैदा कर दिया।

उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि हमें अगली सीरीज से पहले तीसरे वनडे को लेकर कुछ करना होगा क्योंकि हम लगातार तीसरा वनडे हार रहे हैं। झूलन के पास काफी अनुभव है, उन्होंने दूसरी गेंदबाजों की काफी मदद की है। शिखा पांडे उनके मागदर्शन में काफी आगे आई हैं। उन्होंने कहा क िस्मृति और पूनम के जाने के बाद हमारी बल्लेबाजी लड़खड़ा गई। हालांकि अंत में एक और साझेदारी हुई। मैं इस जीत के लिए इंग्लैंड की कैथरीन ब्रंट को भी श्रेय देना चाहूंगी। उन्होंने शानदार स्पैल किया। वह वाकई टीम को जीत दिलाने के लिए खेलीं।

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस