होबार्ट। आस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम ने ट्राई सीरीज के चौथे मुकाबले में इंग्लैंड को तीन विकेट से मात देकर फाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली है। पहले बल्लेबाजी करने उतरी इंग्लैंड की टीम ने इयन बेल (141) के शानदार शतक के दम पर 50 ओवर में 8 विकेट के नुकसान पर 303 रन बनाए और अंत में थोड़े बहुत रोमांच के बाद कंगारुओं ने 3 विकेट के नुकसान पर एक गेंद शेष रहते लक्ष्य को हासिल कर लिया। बैली की गैरमौजूदगी में कप्तान बनाए स्टीवन स्मिथ (नाबाद 102) टेस्ट की तरह वनडे में भी कप्तान के रूप में चमके और उन्होंने अपने वनडे करियर का तीसरा शतक जड़ा।

- बेल का शानदार शतकः

ऑस्ट्रेलियाई टीम ने टॉस जीतकर इंग्लैंड को पहले बल्लेबाजी करने का न्योता दिया। इंग्लैंड के अनुभवी बल्लेबाज व ओपनर इयन बेल ने 125 गेंदों पर 141 रनों की शानदार शतकीय पारी खेलकर अपनी टीम को एक मजबूत मंच दिया। उन्होंने अपनी पारी में एक छक्का व 15 चौके लगाए। इसके अलावा उनके दूसरे सलामी जोड़ीदार मोइन अली ने 48 गेंदों पर 46 रनों की पारी खेली और दोनों ने पहले विकेट के लिए 113 रनों की शतकीय साझेदारी को अंजाम तक पहुंचाया।

- इंग्लैंड ने पार किया 300 का आंकड़ाः

मोइन अली के विकेट के कुछ ही समय बाद जेम्स टेलर भी पांच रन बनाकर आउट हो गए। हालांकि बेल ने अपनी पारी बरकरार रखी और 141 रन बनाकर ही वो पवेलियन लौटे। इसके बाद जोइ रूट ने आउट होने से पहले 69 रनों की पारी खेली। कप्तान इयोन मोर्गन अपनी पहली ही गेंद पर शून्य पर आउट हो गए। उन्हें संधू ने विकेट के पीछे हैडिन के हाथों कैच कराया। इसी बीच जोस बटलर ने 25 रनों की पारी खेलकर पारी को संभालने की कोशिश जरूर की लेकिन वो रन आउट हो गए। अंत में अचानक से विकेटों का पतझड़ शुरू हुआ। अंतिम ओवर में स्कोर 303 रन पर ही अटका था जिस बीच अंतिम तीन गेंदों पर लगातार तीन विकेट गिर गए। इनमें से एक विकेट (बटलर) स्टार्क ने लिया जबकि दो खिलाड़ी (बटलर और वोक्स) रन आउट हुए। ऑस्ट्रेलिया की तरफ से पैट कमिंस सबसे महंगे गेंदबाज सबसे साबित हुए। उन्होंने 10 ओवर में एक विकेट लेकर 74 रन लुटाए जबकि मिचेल स्टार्क ने 10 ओवर में एक सफलता हासिल करके 60 रन लुटा दिए। सबसे सफल गेंदबाज गुरिंदर संधू साबित हुए जिन्होंने 10 ओवर में 49 रन लुटाकर दो विकेट हासिल किए। वहीं, जेम्स फॉकनर और मोइसिस हेनरिक्स को एक-एक विकेट मिला।

इस मैच का स्कोरकार्ड देखने के लिए यहां क्लिक करें

- ऑस्ट्रेलिया ने लगाई जीत की हैट्रिक, स्मिथ फिर चमकेः

टेस्ट में कप्तानी मिलने पर स्टीवन स्मिथ ने धमाल तो मचाया ही था लेकिन बैली की गैरमौजूदगी में जब उन्हें वनडे की कप्तानी सौंपी गई तो यहां पर भी दबाव उन पर बिलकुल नजर नहीं आया। इसके साथ ही उन्होंने अपनी टीम के लिए विजयी शतकीय पारी खेली और अपनी टीम को जीत दिलाकर ही मैदान से बाहर आए। स्मिथ ने 95 गेंदों पर 6 चौकों और 1 छक्के के दम पर नाबाद 102 रन बनाए।

इससे पहले ऑस्ट्रेलिया के शीर्ष के दो बल्लेबाज एरोन फिंच 32 रन बनाकर और शॉन मार्श 45 रन बनाकर आउट हुए। जबकि इस मैच में टीम में शामिल किए गए कैमरून वाइट शून्य पर ही फिन की गेंद पर एलबीडब्ल्यू हो गए। फिर बीच में स्मिथ के साथ ग्लेन मैक्सवेल (37) और जेम्स फॉकनर (35) ने कुछ देर साथ देकर पारी को आगे बढ़ाया, वहीं अंत में हैडिन और स्मिथ के बीच भी छठे विकेट के लिए 81 रनों की साझेदारी हुई जिसने ऑस्ट्रेलिया की स्थिति मजबूत कर दी। अंतिम ओवर में बेशक हेनरिक्स के आउट होने से कुछ समय मैच में रोमांच बना जब ऑस्ट्रेलिया को 6 गेंदों में 2 रन की जरूरत थी लेकिन स्मिथ और स्टार्क ने कोई चूक न करते हुए 7 विकेट के नुकसान पर ही 49.5 ओवर में अपनी टीम को 3 विकेट से जीत दिला दी।

क्रिकेट की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Jagran News Network