नई दिल्ली, जेएनएन। रणजी ट्रॉफी क्रिकेट टूर्नामेंट के एलीट ग्रुप बी के एक मुकाबले में मध्य प्रदेश को उनकी खराब बल्लेबाजी का खमियाजा भुगतना पड़ा और आंध्र प्रदेश के हाथों में 307 रन से बड़ी शिकस्त झेलनी पड़ी। इस मैच की दूसरी पारी में मध्य प्रदेश की टीम 35 रन पर ऑल आउट हो गई। 

इस मैच की पहली पारी में आंध्रा की टीम 132 रन बनाकर ऑल आउट हो गई। पहली पारी में एमपी की तरफ से ईश्वर पांडे ने चार जबकि गौरव यादव व के कार्तिकेय ने तीन-तीन विकेट लिए। इसके बाद पहली पारी में एमपी की टीम 91 रन पर ऑल आउट हो गई। इस टीम की तरफ से कप्तान नमन ओझा ने सबसे ज्यादा 30 रन बनाए। आंध्रा की तरफ से तेज गेंदबाज गिरिनाथ रेड्डी ने 29 रन देकर छह विकेट चटकाए। उन्होंने सिर्फ 10.5 ओवर गेंदबाजी करते हुए ये कमाल किया और अपनी टीम को मैच में बनाए रखा। 

इसके बाद दूसरी पारी में आंध्रा की टीम ने करन सिंदे के 103 रनों की शतकीय पारी के दम पर कुल 301 रन बनाए। इसके बाद मैच की दूसरी पारी में एमपी की टीम को जीत के लिए मिले लक्ष्य को पूरा करने के लिए अच्छी बल्लेबाजी की जरूरत थी लेकिन ये टीम इसमें सफल नहीं हो पाई और उसे मैच गंवाना पड़ा। एमपी की टीम दूसरी पारी में एक वक्त पर तीन विकेट खोकर 35 रन बना चुकी थी लेकिन  इसके बाद इस टीम के विकेट गिरने का सिलसिला ऐसा शुरू हुआ की स्कोर में एक रन का भी इजाफा नहीं हो पाया। यानी 13  ओवर में तीन विकेट पर 35 रन के स्कोर के बाद ये टीम 16.5 ओवर में ऑल आउट हो गई। 

दूसरी पारी में मैच के 14वें ओवर की पहली गेंद पर एमपी के बल्लेबाज आर्यमान बिरला 12 रन पर आउट हो गई और इसके बाद विकेट के गिरने का सिलसिला शुरू हो गया। इसी ओवर में एमपी का पांचवां विकेट भी गिर गया। इसके बाद 15वें ओवर की दूसरी गेंद पर वीआर अय्यर जबकि तीसरी गेंद पर ही कार्तिकेय आउट हो गए। फिर 16.5 ओवर तक टीम के अन्य सात बल्लेबाज आउट हो गए और आंध्रा ने ये मुकाबला 307 रन से जीत लिया। 

मैच की दूसरी पारी में आंध्रा की तरफ से केवी शशिकांत ने 18 रन देकर छह विकेट झटके जबकि विजय कुमार ने 17 रन देकर तीन विकेट झटके। एमपी की तरफ से मैच की दूसरी पारी में बिरला और यश डूबे ही दहाई आंकड़ा छू पाए। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sanjay Savern