नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। टी20 वर्ल्ड कप 2022 के लिए टीम के नाम की घोषणा होने में अभी एक महीने का वक्त शेष बचा है, लेकिन भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व स्पिनर का मानना है कि इस टूर्नामेंट के लिए भारतीय टीम पहले ही फाइनल हो चुकी है। मनिंदर ने सोनी स्पोर्ट्स नेटवर्क द्वारा आयोजित एक वर्चुअल इंटरेक्शन में मीडिया से बात करते हुए कहा कि टीम में नए खिलाड़ियों के लिए जगह तभी बन सकती है जब टीम के कुछ सदस्य चोटिल हो जाएं या किसी अन्य कारण से चूक जाएं। उन्होंने कुलदीप यादव और अक्षर पटेल जैसे खिलाड़ियों के बारे में भी बात की और कहा कि उन्हें तभी मौका मिल सकता है जब चयन के लिए पहली पंसद के खिलाड़ी किसी कारण से इसे मिस कर दें। 

मनिंदर सिंह ने कहा कि इंटरनेशनल लेवल पर आपको जो भी मौके मिलते हैं उसमें आपको प्रदर्शन करते रहना होता है और इससे ही चयनकर्ताओं का विश्वास आपके ऊपर बनता है कि आप अच्छा काम कर सकते हैं। जैसे कुलदीप यादव ने आइपीएल 2022 में अच्छा प्रदर्शन किया था और इंटरनेशनल लेवल पर उन्हें जब भी मौका मिला उन्होंने अच्छा काम किया। टीम के हर खिलाड़ी के लिए भी कुछ ऐसा ही होने जा रहा है। जहां तक वाशिंगटन सुंदर, कुलदीप यादव या फिर अक्षर पटेल का सवाल है तो मुझे लगता है कि विश्व कप टीम पहले ही फाइनल हो चुकी है। इन्हें तभी मौका मिल सकता है जब कोई चोटिल हो जाए और आप किसी के घायल होने की उम्मीद नहीं कर सकते। 

उन्होंने कहा कि कोविड 19 के इस दौर में ये नहीं पता कि किसके साथ क्या हो जाए। ऐसे में जिम्बाब्वे जाने वाले खिलाड़ियों के लिए ये सीरीज काफी अहम होने वाली है। इस दौरे पर जाने वाले खिलाड़ी अगर अच्छा प्रदर्शन करते हैं तो और अगर उन्हें इस वर्ल्ड कप में मौका नहीं मिलता है तो उन्हें उसके बाद की क्रिकेट सीरीज या फिर अगले वर्ल्ड कप में चुना जाए। मनिंदर सिंह ने जिम्बाब्वे दौरे के बारे में कहा कि इस दौरे पर कुछ खिलाड़ी चयनकर्ताओं को प्रभावित करना चाहेंगे। वहीं उनके मुताबिक इस दौरे पर संजू सैमसन को विकेटकीपर की भूमिका निभानी चाहिए। हालांकि उन्होंने इशान किशन और संजू के बीच की प्रतिद्वंदिता की भी बात की, लेकिन कहा कि कोच और कप्तान के लिए इन दोनों में किसी एक का चयन करना आसान नहीं होगा। वैसे मैं संजू से काफी प्रभावित हूं क्योंकि जब वो बैकफुट पर खेलते हैं तो आप समझ सकते हैं कि उनके पास कितना टाइम है। 

Edited By: Sanjay Savern