नई दिल्ली। 'क्या यार, स्पॉट फिक्सिंग क्यों की? यू नो, यू आर माई फेवरेट प्लेयर (आपको मालूम है, आप मेरे प्रिय खिलाड़ी हैं)' ये बातें 12 साल के बच्चे तुषार ने श्रीसंत से उस समय कही, जब वह अदालत में पेशी के दौरान कठघरे में खड़ा था। बच्चे के इस मासूम सवाल के जवाब में श्रीसंत ने फुसफुसाते हुए कहा, यार मैंने नहीं किया, मुझे फंसा दिया।

पढ़ें : श्रीसंत और लड़की के बीच तय हो रहा था सौदा, तस्वीर आई सामने

श्रीसंत की पेशी से पहले ही साकेत कोर्ट में मीडियाकर्मियों की भीड़ थी। कोर्ट परिसर में एयर फोर्स बाल भारती स्कूल के आठवीं कक्षा का छात्र तुषार भी मौजूद था। किसी को भी नहीं पता था कि यह बच्चा यहां क्यों आया है। लेकिन उसके मन में कुछ सवाल कौंध रहे थे, जिसका जवाब पाने को वह यहां आया था। अदालत में पुलिस कड़ी सुरक्षा के बीच क्रिकेटर श्रीसंत को लेकर पहुंची। पुलिस व बचाव पक्ष की दलीलों के साथ अदालत की कार्यवाही शुरू हुई।

पढ़ें : एक मेल ने खोल दी श्रीनिवासन की पोल

इसी दौरान यह बच्चा भीड़ से होते हुए श्रीसंत के पास पहुंच गया। बच्चे ने वहां पहुंचकर श्रीसंत को हाय बोला, श्रीसंत ने हल्की मुस्कराहट के रूप में बच्चे को जवाब दिया। अदालती कार्यवाही से अनभिज्ञ बच्चे ने श्रीसंत से मासूम सा सवाल पूछा। बच्चा जवाब सुनकर पीछे हटा और एक मीडियाकर्मी से कागज मांगा। कागज मिलने पर श्रीसंत के पास दोबारा गया और ऑटोग्राफ देने को कहा।

पढ़ें : लड़कियों के लिए पागल था श्रीसंत

श्रीसंत ने कहा कि वह कोर्ट में ऑटोग्राफ नहीं दे सकता। बच्चे ने कहा, यार दे दो ना, किसी को नहीं पता चलेगा। फिर कोर्ट कार्यवाही के बाद बच्चे को ऑटोग्राफ देते हुए लिखा कि- डीयर तुषार, प्लीज डू प्रे फॉर मी- श्रीसंत (प्रिय तुषार, कृपया मेरे लिए प्रार्थना करो)। इसके बाद श्रीसंत पुलिस के साथ चला गया।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस