नई दिल्ली। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में खेलने वाले जम्मू एवं कश्मीर के पहले क्रिकेटर परवेज रसूल ने पुणे वॉरियर्स की अपनी टीम जर्सी पर शराब ब्रांड का लोगो लगाने से इन्कार कर दिया है। उन्होंने कहा कि इससे उनकी धार्मिक भावनाएं आहत होती हैं।

पढ़ें : घाटी का पहला क्रिकेटर कौन है?

कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ पिछले सप्ताह अपना पहला आईपीएल मैच खेलने वाले 24 वर्षीय रसूल ने शराब ब्रांड के लोगो को छिपाने के लिए अपनी जर्सी पर टेप लगा दिया था। उन्होंने कहा, 'मैंने लोगो छिपाने के लिए टेप का उपयोग किया और लोगों ने शुरू में हैरानी जताई कि मैं ऐसा क्यों कर रहा हूं। मैंने कहा कि इसलिए क्योंकि मेरे धर्म में शराब पीना मना है। मैं शराब के ब्रांड का प्रचार नहीं कर सकता। मेरे लिए मेरी आस्था सबसे अधिक महत्वपूर्ण है। मेरा परिवार इस फैसले से खुश था।'

आईपीएल की और मजेदार खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

रसूल 12 मैचों तक डगआउट में बैठे रहे। इसके बाद उनका आईपीएल में पदार्पण हुआ। उन्होंने अपने पहले मैच में ही चार ओवर में 23 रन देकर जैक्सकैलिस का महत्वपूर्ण विकेट लिया और एक रन भी बनाया। मुंबई इंडियंस के खिलाफ दूसरे मैच में रसूल ने केवल एक ओवर किया, जिसमें उन्होंने पांच रन दिए। वह दसवें नंबर पर बल्लेबाजी के लिए आए और उन्होंने चार रन भी बनाए।

पढ़ें : पदार्पण करते रसूल ने क्या कहा?

कश्मीर घाटी का यह क्रिकेटर इस वर्ष भ्रमणकारी ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ बोर्ड अध्यक्ष एकादश की ओर से खेलते हुए सात विकेट लेकर आकर्षण का केंद्र बना था। अपने 24वें जन्मदिन से एक दिन पहले रसूल ने फिरकी का जाल बुनते हुए बोर्ड अध्यक्ष एकादश के लिए 45 रन देकर सात विकेट झटके थे।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस