नई दिल्ली। आईपीएल 6 में स्पॉट फिक्सिंग मामले में एक और सनसनीखेज खुलासा हुआ है। क्रिकेटर अजीत चंडीला ने स्पॉट फिक्सिंग का आरोप स्वीकार करते हुए पुलिस को दो और खिलाड़ियों का नाम बताया है। सूत्रों के अनुसार अजीत चंदीला ने पुलिस को बताया कि सटोरियों ने उनसे साथी खिलाड़ी सिद्धार्थ त्रिवेदी और केवोन कूपर से भी बातचीत कराने के लिए कहा था। इसके अलावा चंदीला ने यह भी बताया कि 2012 में 29 अप्रैल को दिल्ली डेयरडेविल्स और राजस्थान रॉयल्स के बीच खेले गए मुकाबले में भी स्पॉट फिक्सिंग हुई थी।

जानिए : किसने बिगाड़ दी श्रीसंत की पूरी जिंदगी

वहीं, इससे पहले राजस्थान रॉयल्स के दो खिलाड़ी एस श्रीसंत और अंकित चव्हाण ने स्पॉट फिक्सिंग करने की बात स्वीकार कर ली है। सूत्रों के हवाले से आई खबर के अनुसार पुलिस कमिश्नर नीरज कुमार के पूछाताछ करने के बाद दोनों खिलाड़ियों ने अपने गुनाह स्वीकार कर लिए हैं।

श्रीसंत ने गुनाह स्वीकार करते हुए कहा कि उसे उसके रिश्तेदार जीजू जनार्दन ने इस मामले में फंसाया है। वह किसी को नहीं जानता था। जीजू उसे इस मामले में लेकर आया। वहीं, अंकित चव्हाण ने अपना गुनाह कबूल करते हुए कहा कि उसने तीसरे आरोपी क्रिकेटर अजीत चंडीला के कहने पर ऐसा किया। उसने स्वीकार किया कि उससे बहुत बड़ी गलती हो गई। उसे ऐसा नहीं करना चाहिए था, लेकिन वह बहकावे में आ गया। इस गिरी हुई हरकत के कारण एयर इंडिया ने भी अजीत चंदीला और अंकित चव्हाण को सस्पेंड कर दिया।

लड़की के साथ पकड़े गए श्रीसंत

वहीं, दूसरी तरफ एक और खुलासे के अनुसार दिल्ली पुलिस की एक ऑडियो रिकॉर्डिग में यह बात सामने आई कि डील का मामला बिगड़ जाने के बाद चंडीला ने बुकी से बातचीत करते हुए कहा था कि क्या पिछले साल कोई दिक्कत हुई थी, जो इसबार परेशानी आ रही है? यह बातचीत इसओर साफ इशारा कर रहा है कि चंडीला पिछले सीजन में भी फिक्स थे।

बुकी और खिलाड़ियों के बीच पूरी बातचीत

इस पूरे मामले पर बीसीसीआई की वर्किग कमेटी 19 मई को एक बैठक करने वाली है। इसमें खिलाड़ियों पर प्रतिबंध लगाया जा सकता है। वहीं, स्पॉट फिक्सिंग मामले की तेजी से जांच के लिए देशभर में कई जगह छापे मारे जा रहे हैं। चेन्नई में पिछले कुछ घंटों से लगातार छापेमारी जारी है, जिसमें 6 बड़े फाइनेंसर गिरफ्तार किए गए हैं। इन सभी लोगों ने आईपीएल 6 में बहुत पैसा लगाया है। चेन्नई पुलिस ने इसके लिए सात टीमें गठित की हैं।

इसके अलावा अब प्रवर्तन निदेशालय भी इस पूरे मामले की जांच करेगा।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस