मुंबई [अकेला]। मुंबई के सटोरियों के पास से बरामद पाकिस्तान से आए जाली भारतीय नोट पहला वह सुराग थे जहां से आइपीएल में स्पॉट फिक्सिंग के खेल की भनक लगी। आइबी के एक आला अफसर के मुताबिक एस श्रीसंत, अजित चंदीला और अंकित चव्हाण तो स्पॉट फिक्सिंग के खेल की छोटी मछलियां हैं। कुछ बड़े क्रिकेटर भी इस गंदे धंधे में शामिल हैं और उनकी मदद से आइपीएल के कई अन्य मैचों में भी स्पॅाट फिक्सिंग की कोशिश हो रही है।

पढ़ें: जब जज ने की श्रीसंत की बोलती बंद

पढ़ें: क्या है स्पॉट फिक्सिंग, कैसे बुकी करते हैं खिलाड़ियों को फिक्स

इनमें शनिवार को चेन्नई सुपर किंग्स और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूर के बीच खेला जाने वाला मैच भी है।

कुछ समय पहले राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) ने तीन लोगों को पाकिस्तान से आई जाली भारतीय मुद्रा के साथ गिरफ्तार किया था। उनसे यह जानकारी मिली कि जाली नोटों का इस्तेमाल कुछ संट्टेबाज भी कर रहे हैं। एनआइए ने यह सूचना आइबी को दी। आइबी ने दिल्ली के संट्टेबाजों पर निगाह रखनी शुरू की। उनकी बातचीत सुनने के बाद उसे आइपीएल में फिक्सिंग का अंदेशा हुआ। आइबी ने यह जानकारी दिल्ली पुलिस को दी और उसने इस क्रिकेट को डसने वाले इस खेल का भंडाफोड़ कर दिया।

खुफिया सूत्रों के अनुसार भारतीय संट्टेबाजों ने पैसे कमाने के लिए नया तरीका निकाला है। वे अब पाकिस्तान से नेपाल-बांग्लादेश और गुजरात व राजस्थान सीमा के जरिये जाली भारतीय मुद्रा मंगाते हैं और अपने साथियों में बांट देते हैं। अगर वे संट्टा हार जाते हैं तो जीतने वालों को जीती हुई रकम के साथ जाली नोट भी थमा देते हैं। पहले वे 18 फीसद जाली नोट थमाते थे। अब 21 फीसद तक देने लगे हैं।

खुफिया सूत्रों के अनुसार स्पॉट फिक्सिंग में न केवल मुंबई का अंडरव‌र्ल्ड बल्कि विदेशी बुकीज (सट्टेबाज) भी लिप्त हैं। पिछले सप्ताह दिल्ली के कुछ बुकीज की नाशिक के एक होटल में एक अंडरव‌र्ल्ड डॉन के रिश्तेदार के साथ आइपीएल मैच फिक्स करने को लेकर बैठक हुई थी। इसमें दिल्ली के बुकीज टिकू, पीके, मित्तल और अहमदाबाद के जेके के साथ कुछ अन्य भी शामिल थे। सूत्रों ने यह भी बताया कि सुनील अलमचंदानी उर्फ सुनील दुबई मैच फिक्सिंग को दुबई से अंजाम दे रहा है। (मिड-डे)

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस