आइसीसी के 12वें वर्ल्ड कप के लिए भारतीय टीम का ऐलान कर दिया गया है। मुंबई में सोमवार को 'क्रिकेट के महाकुंभ' के लिए 15 सदस्यीय भारतीय दल चुना गया। अखिल भारतीय सीनियर चयन समिति ने टीम की घोषणा की। टीम में रिषभ पंत को जगह नहीं दी गई है। वहीं दिनेश कार्तिक को मौका दिया गया है। विराट कोहली ने कहा था कि वर्ल्ड कप के लिए टीम चयन पर आइपीएल की परफॉर्मेंस का असर नहीं पड़ेगा। सभी खिलाड़ियों को उनके मौजूदा फॉर्म को देखत हुए सिलेक्ट किया जाएगा। आइए देखते हैं टीम इंडिया की वर्ल्ड कप टीम के लिए जिन खिलाड़ियों का सिलेक्शन हुआ उनका अभी तक आइपीएल में कैसा परफॉर्मेंस रहा है। 

 

विराट कोहली

मैच: 7  

रन: 270

औसत: 38.57

आइपीएल के 12वें सीजन में केकेआर और किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ मैचों के अलावा विराट कोहली गेंदबाजों पर हावी नहीं हो पाए हैं। सीजन में बैंगलोर की लगातार हार के बाद कोहली की कप्तानी पर भी सवाल उठे। हालांकि, पंजाब के खिलाफ कोहली और एबी की पार्टनरशिप की मदद से बैंगलोर 7वें मैच में जीत हासिल करने में सफल रही। देखा जाए तो आरसीबी का आइपीएल-12 में सफर लगभग खत्म हो गया है। इसे देखते हुए कई दिग्गज क्रिकेटर्स ने सलाह दी कि वर्ल्ड कप से पहले कोहली को आराम देना चाहिए।

 

रोहित शर्मा

मैच: 6

रन: 165 

औसत: 27.50

आइपीएल से पहले, रोहित ने ऐलान किया था कि वह मुंबई इंडियंस के लिए इस पूरे सीजन में पारी की शुरुआत करेंगे। पिछले दो सीजन में मिडिल ऑर्डर में बल्लेबाजी करते आए रोहित ने वर्ल्ड कप को देखते हुए यह फैसला किया था। लेकिन रोहित का फैसला मुंबई इंडियंस के लिए कुछ खास नहीं कर सका। रोहित अभी तक एक भी अर्धशतक नहीं बना पाए हैं। यहां तक कि चोटिल होने की वजह से वह किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ मैदान पर नहीं उतरे थे। हालांकि, अगले ही मैच में उन्होंने वापसी की थी लेकिन फिर टीम इंडिया के लिए यह चिंता का विषय हो सकता है।

 

शिखर धवन

मैच: 8

रन: 256 

औसत: 36.57

धवन की आइपीएल के इस सीजन में अपनी होम टीम दिल्ली कैपिटल्स में वापसी हुई है। ताबड़तोड़ बल्लेबाज़ी के लिए जाने जाने वाले धवन केकेआर के खिलाफ 97 रनों की बेहतरीन पारी के अलावा बाकि मैचों में कुछ खास नहीं कर पाए हैं। दिल्ली के अभी 6 लीग मैच बचे हैं ऐसे में धवन अपने तूफानी फॉर्म में वापसी करना चाहेंगे।   

 

केएल राहुल

मैच: 8

रन: 335 

औसत: 67.00

विकेट कीपिंग: 6 कैच

किंग्स इलेवन पंजाब के इस सलामी बल्लेबाज की आइपीएल के इस सीजन की शुरुआत खास नहीं रही। लेकिन, एक-दो मैचों को अगर छोड़ दिया जाए राहुल ने  अगली 4 पारियां कमाल की खेलीं। उन्होंने मुंबई के खिलाफ पहले 71 रन और दूसरे मैच में 100 रन बनाए। फिर हैदराबाद के खिलाफ 71 रन और चेन्नई के खिलाफ 55 रनों की पारी खेली। 

 

विजय शंकर 

मैच: 7

रन: 132 

औसत: 22.00 

आइपीएल के इस सीजन के पहले दो मैचों में 40 और 35 रन बनाने के बाद बल्लेबाजी करते वक्त संघर्ष करते दिख रहे हैं। गेंदबाजी की बात करें तो अभी तक उन्होंने सिर्फ 5 ओवर किए हैं।

 

एम एस धौनी 

मैच: 8

रन: 230 

औसत: 76.66

विकेट कीपिंग: 4 कैच और दो स्टंपिंग

धौनी की कप्तानी में उनकी डिफेंडिंग चैंपियन टीम चेन्नई सुपर किंग्स अंकतालिका में टॉप पर है। धौनी की बल्लेबाजी की बात करें तो उन्होंने राजस्थान के खिलाफ 75 रन और किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ 37 रन की शानदार पारी खेल टीम को जीत दिलाई। धौनी इस सीजन जयदेव उनादकट और सैम कुरेन जैसे गेंदबाजों की बॉल पर छक्के और चौकों की बारिश कर रहे हैं। साथ ही विकेट के पीछे माही का जवाब नहीं है। वह अभी तक 4 कैच और दो स्टंपिंग कर चुके हैं।  

 

केदार जाधव

मैच: 8

रन: 135 

औसत: 27

जाधव के लिए आइपीएल का 12वां सीजन कुछ खास नहीं जा रहा। उन्होंने अब तक खेले 8 मैचों में 135 रन ही जोड़े हैं। जाधव ने सिर्फ मुंबई इंडियंस के खिलाफ एक मैच में 58 रन की अहम पारी खेली थी।  

 

दिनेश कार्तिक

मैच: 8

रन: 111 

औसत: 18.50

कीपिंग: 4 कैच

पहले दो मैचों में 10 रन भी नहीं बनाने वाले कार्तिक ने दिल्ली के खिलाफ अर्धशतक लगाया। इसके अलावा कार्तिक हर टीम के खिलाफ लगातार असफल हुए हैं। 

 

युजवेंद्र चहल

मैच: 7

विकेट: 11 

इकोनॉमी रेट: 7.07

बैंगलोर का आइपीएल के इस का अभियान भले ही निराशाजनक रहा हो लेकिन यह गेंदबाज लगातार कमाल की गेंदबाजी कर रहा है। बैंगलोर मैच हार रही थी लेकिन चहल टूर्नामेंट में अभी तक 7 मैचों में 11 विकेट चटकाकर सबसे ज़्यादा विकेट लेने गेंदबाजों में तीसरे नम्बर पर हैं। उनका इकोनॉमी रेट भी अच्छा है। 

युवराज सिंह ने उनकी पहली तीन गेंदों को छक्के के लिए बाउंड्री के पार पहुचाया था लेकिन चहल ने चौथी गेंद पर उन्हें चलता किया।  

 

कुलदीप यादव

मैच: 8

विकेट:

इकोनॉमी रेट: 7.82

कुलदीप की गेंद को इस सीजन में अच्छा टर्न मिल रहा है लेकिन इसके बावजूद वह ज़्यादा विकेट नहीं ले पा रहे हैं। दिल्ली के खिलाफ कुलदीप ने आखिरी ओवर में 3 रन देकर एक विकेट लिया था। जिसकी वजह से मैच सुपर ओवर तक पहुंचा था।

 

भुवनेश्वर कुमार

मैचः 7

विकेटः

इकोनॉमी रेटः  8.74

कप्तान के रूप में हैदराबाद को राह दिखाने वाले भुवी का अभी तक का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा है। उन्हें विकेट भी अधिक नहीं मिल रहे हैं। इसके साथ ही डेथ ओवरों में भी वे प्रभावी परफार्मेंस देने में नाकाम रहे हैं। यहां तक कि उनको पहला विकेट मुबंई के खिलाफ मिला। 

 

जसप्रीत बुमराह

मैचः 7

विकेटः 8

इकोनॉमी रेटः 7.01

दिल्ली के खिलाफ रन बचाने के प्रयास में बुमराह अपने लेफ्ट कंधे में चोट लगवा चुके हैं। हालांकि इसके बाद उन्होंने शानदार वापसी करते हुए बंगलौर के खिलाफ दमदार खेल दिखाया और तीन बल्लेबाजों को पवेलियन की राह दिखाई थी। वे बेहद अहम रोल अदा कर रहे हैं। वे अब तक काफी किफायती रहे हैं और मैच के रुख को अपनी तरफ मोड़ने में कामयाब रहे हैं।

 

हार्दिक पंड्या

मैचः 7

रनः 149

बैटिंग एवरेजः 37.25

विकेटः

इकोनॉमी रेटः 10.34

आइपीएल में पांड्या मुंबई के मैच विजेता खिलाड़ी हैं। उनका बल्ला रन उगल रहा है और विकेट लेकर वे विपक्षियों की परेशानी बढ़ा रहे हैं। चेन्नई को चित करने के दौरान उनके ऑलराउंडर खेल का हर कोई दीवाना हो गया है। इसी कारण से उनको वर्ल्ड कप की कैप दी गई है।

 

रवींद्र जडेजा

मैचः 8

रनः 55

बैटिंग एवरेजः 55

विकेटः 7

इकोनॉमी रेट: 6.46

जडेजा किफायती बॉलिंग कर रहे हैं। चेपक की पिच से स्पिनरों को मदद मिलने से जडेजा का काम आसान हो गया है। हालांकि बैटिंग के उन्हें ज्यादा मौके नहीं मिले हैं। उम्मीद है कि जडेजा वर्ल्ड कम में भारत की नैया पार लगाने में अहम भूमिका निभाएंगे। 

 

मोहम्मद शमी

मैचः 8

विकेटः 10 

इकोनॉमी रेटः  8.78

शमी की गेंदबाजी आईपीएल में आग उगल रही है। उन्होंने मुंबई के खिलाफ तूफानी गेंदबाजी की थी। उनकी गेंदें सटीक जगह पड़ रही हैं और बल्लेबाजों के लिए परेशानी खड़ी कर रही हैं। वर्ल्ड कप में वे अपनी जगह को सही ठहराने में कामयाब होंगे।

 

Posted By: Ruhee Parvez

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप