नई दिल्ली, पीटीआइ। भारत के पूर्व क्रिकेटर मदन लाल ने गुरुवार को कहा कि एक आईपीएल मैच में रविचंद्रन अश्विन जैसे बड़े कद के खिलाड़ी द्वारा जोस बटलर को 'मांकडेड' रन आउट करना सही नहीं था हालांकि उन्होंने बताया कि इसमें किसी तरह के क्रिकेट के नियम का उल्लंघन नहीं किया गया।

क्रिकेट की दुनिया में इस विवादास्पद घटनाक्रम के बाद लोगों में अलग अलग राय है। ये पूरा वाकया सोमवार को खेले गए राजस्थान रॉयल्स की पारी में हुआ। बता दें कि किंग्स इलेवन पंजाब के कप्तान अश्विन ने बटलर को क्रीज से दूर जाता देख,  बीच में ही गेंदबाजी रोकी और बटलर के एंड पर बेल्स को हटा दिया। जिससे बटलर को आउट करार दिया गया। इस तरह जीते जीताए मैच को राजस्थान रॉयल्स हार गया।

मदन लाल ने कहा 'अश्विन का क्रिकेट की दुनिया में बड़ा कद है, एक सफल अंतर्राष्ट्रीय करियर है, मुझे नहीं लगता कि उन्होंने जो किया वो सही काम किया। वह बड़े खिलाड़ी हैं और इस तरह आउट करना उनके लिहाज से सही नहीं था। उन्होंने कहा कि अश्विन अपनी जगह सही हैं लेकिन उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए था।

1996-97 में भारत के कोच के रूप में एक संक्षिप्त कार्यकाल रखने वाले लाल ने कहा कि अश्विन की कार्रवाई तब उचित होती जब ऑफ स्पिनर ने बटलर को पहले चेतावनी दी होती। उन्होंने पूर्व भारतीय कप्तान सचिन तेंदुलकर और कपिल देव के उदाहरण का भी हवाला दिया, जो ऐसे उदाहरणों में शामिल थे जहां एक खिलाड़ी को उसी विवादास्पद तरीके से आउट कर दिया गया था।

बता दें कि 1992 में पोर्ट एलिजाबेथ में एक दिवसीय मैच में दौरान, ऐसे ही कपिल ने नॉन-स्ट्राइकर के एंड पर खड़े पीटर कर्स्टन को आउट किया था। लेकिन उन्होंने आउट करने से पहले दक्षिण अफ्रीकी के इस खिलाड़ी को दो बार चेतावनी दी थी।

लाल ने ब्रिस्बेन 2012 में खेले गए एक मैच का जिर्क करते हुए कहा कि एक श्रृंखला में खेले जा रहे मैच के दौरान अश्विन ने श्रीलंका के गैर-स्ट्राइकर लाहिरु थिरिमाने को 'मांकडेड' कर दिया था। जिसके बाद भारत द्वारा अपील वापस ले ली गई थी। इस वक्त सचिन ने समझा कि यह खेल की भावना में नहीं है, इसलिए सचिन ने ऐसा नहीं किया।

लाल ने याद दिलाया कि कैसे 1987 में लाहौर में विश्व कप की नॉक-आउट मुकाबले के दौरान वेस्टइंडीज के कोर्टनी वाल्श ने 'स्पिरिट ऑफ द गेम' दिखाया। उन्होंने तीन बार चेतावनी देने के बाद भी पाकिस्तानी खिलाड़ी सलीम जाफर को आउट नहीं किया।

उन्होंने कहा, ' अच्छा है कि यह आईपीएल में हुआ। कल्पना कीजिए कि अगर यह विश्व कप में होता है, आखिरी गेंद पर कोई ऐसा करता है तो?। मुझे याद है कि कोर्टनी वाल्श की टीम पाकिस्तान के खिलाफ विश्व कप मैच हार गई थी। क्योंकि उन्होंने गैर-स्ट्राइकर को रन आउट करने से इनकार कर दिया था।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Nitin Arora