नई दिल्ली, जेएनएन। आइपीएल का 12वां सीजन अपने आखिरी पड़ाव पर पहुंच चुका है। अब टॉप चार टीमें फाइनल की जंग के लिए एक दूसरे से भिड़ने को तैयार हैं। पहला क्वालीफायर मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच मंगलवार को खेला जाएगा। जबकि एलीमिनेटर बुधवार को दिल्ली कैपिटल्स और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच होना है।  

क्वालीफायर मैच में जो टीम हारेगी उसके मुकाबला दूसरे क्वालीफायर में एलीमिनेटर मैच की विजेता टीम से 10 मई को होगा। और आखिर में 12 मई को आइपीएल के 12वें सीजन का फाइनल मुकाबला खेला जाएगा।    

हर सीजन की तरह इस बार भी टूर्नामेंट में खिलाड़ियों ने छक्के, चौकों, नए तरह के शॉट्स, नए रिकॉर्ड, सुपर ओवर और हैट्रिक से दर्शकों का खूब मनोरंजन किया।  

यहां तक कि 12वां सीज़न भी कई मजेदार घटनाओं से भरा रहा। चाहे वो अश्विन की मान्कडिंग हो या फिर बीच मैच में धौनी का गुस्से में मैदान पर आना हो। साथ ही कई रिकॉर्ड टूटे और नए बने। हालांकि, अभी टूर्नामेंट का अंत नहीं हुआ है इसलिए फैन्स को अभी और भी कई रिकॉर्ड्स टूटने की उम्मीद है। खासकर पहले क्वालीफायर में मुंबई और चेन्नई के भी पास रिकॉर्ड्स बनाने का खास मौका होगा। तो आईये नजर डालते हैं ऐसे ही रिकॉर्ड्स पर:  

खिताब जीते तो ऐसा करने वाले पहले कप्तान बनेंगे रोहित

आइपीएल की सबसे सफल टीमों की जब भी बात होती है तो उसमें चेन्नई के अलावा मुंबई का नाम जरूर होता है। इसकी सबसे बड़ी वजह है इन दोनों टीमों का लगातार बेहतरीन प्रदर्शन। ये दोनों टीमें अब तक तीन-तीन बार आइपीएल चैंपियन बन चुकी हैं। मुंबई इंडियंस ने रोहित शर्मा की कप्तानी में 2013 के फाइनल में चेन्नई सुपर किंग्स को हराकर अपनी पहली आइपीएल ट्रॉफी हासिल की थी। वहीं 2015 में एक बार फिर फाइनल में चेन्नई को हराकर दूसरी बार खिताब अपने नाम किया। साल 2017 में मुंबई इंडियंस ने राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स (धौनी इस टीम का हिस्सा थे) के खिलाफ रोमांचक जीत दर्ज़ तीसरी बार आइपीएल चैंपियन बनी। 

यानि मुंबई साल 2013 से एक साल के अंतराल में चैंपियन बनकर लौटती है। अगर इस साल 2019 में मुंबई इंडियंस चौथी ट्रॉफी हासिल करती है तो रोहित के नाम एक रिकॉर्ड लिखा जाएगा। रोहित शर्मा आइपीएल के इतिहास के सबसे सफल कप्तान बन जाएंगे। बतौर कप्तान हिटमैन के नाम आइपीएल की चार ट्रोफियां हो जाएंगी।

धौनी की नज़रें विकेट कीपिंग के इस शानदार रिकॉर्ड पर 

 

चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धौनी न सिर्फ टीम बल्कि टूर्नामेंट के लिए भी बेहद खास हैं। टूर्नामेंट के शुरुआत से CSK का नेतृत्व कर रहें धौनी आइपीएल के सबसे सफल कप्तानों में से एक हैं। चेन्नई धौनी की अगुवाई में टूर्नामेंट में हर बार प्लेऑफ में पहुंची है। साथ ही धौनी ने इस टूर्नामेंट में कई रिकॉर्ड्स भी अपने नाम किए हैं। उनकी ये सभी उपलब्धियां उन्हें आइपीएल में सबसे महान क्रिकेटर्स में से एक बनाती हैं। 

12वें सीजन के पहले क्वालीफायर में भी धौनी के पास एक कारनामा अपने नाम करने का सुनहरा मौका है। वह आइपीएल इतिहास के बतौर विकेट कीपर सबसे ज्यादा शिकार करने वाले खिलाड़ी बन सकते हैं। धौनी आइपीएल में दो टीमों चेन्नई सुपर किंग्स और राइजिंग पुणे सुपरजायंट्स की तरफ से खेलत हुए कुल 186 मैच खेले हैं। जिसमें उनके नाम 128 शिकार हैं, जिसमें 90 कैच और 38 स्टंपिंग शामिल हैं। इस मामले में कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान दिनेश कार्तिक सबसे आगे हैं। कार्तिक ने विकेट कीपिंग करते हुए 180 मैच में कुल 130 शिकार किए हैं। जिसमें 100 कैच और 30 स्टंपिंग हैं। धौनी को ये रिकॉर्ड अपने नाम करने के लिए बस तीन और शिकार की जरूरत है।

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Ruhee Parvez

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप