चेन्नई, जेएनएन। आइपीएल की डिफेंडिंग चैंपियन चेन्नई सुपर किंग्स को खिताब बचाने के लिए मुंबई इंडियंस की कड़ी चुनौती के लिए तैयार रहना होगा। खास बात यह है कि इस सीजन चेन्नई ने मुंबई के खिलाफ अपने दोनों मैच गंवाएं हैं। अब आइपीएल सीजन 12 के पहले क्वालीफायर मुकाबले में चेन्नई का सामना एक बार फिर मुंबई से अपने घर एम.ए. चितंबरम स्टेडियम में होना है।

मुंबई इस सीजन पहली टीम थी जिसने चेन्नई को उसके घर में हराया हो। मुंबई के खिलाफ चेन्नई अधिकतर मौकों पर कमजोर सी दिखी है। इसी को ध्यान में रखते हुए चेन्नई इस मैच को हल्के में नहीं लेना चाहेगी। मुंबई ने इस सीजन की शुरुआत उतनी अच्छी नहीं की लेकिन बाद में टीम का आत्मविश्वास लौटा और टीम ने जीत की लय पकड़ी। उसका शीर्ष क्रम मजबूत है। कप्तान रोहित शर्मा और क्विंटन डी कॉक इस सीजन की बेहतरीन सलामी जोड़ियों में से एक साबित हुए हैं तो मध्यक्रम में सूर्यकुमार यादव ने टीम को कई मौकों पर संभाला है। धौनी की कप्तानी में अगर चेन्नई इस मैच में जीत हासिल करनी है तो उसे मुंबई के इन खतरनाक खिलाड़ियों के लिए खास रणनीति बनाने की जरूरत है।

मुंबई इंडियंस के इन 5 खिलाड़ियों से कैसे पार पाएगी धौनी की चेन्नई सुपर किंग्स: 

क्विंटन डी कॉक

डी कॉक ने ओपनिंग करते हुए हर बार मुंबई को मजबूत शुरुआत दी है। डी कॉक ने इस सीजन 14 पारियों में 37.84 की औसत से 492 रन बनाए हैं। जिसमें चार अर्धशतक शामिल हैं। इस सीजन के सबसे टॉप स्कोरर बल्लेबाजों में डी कॉक चौथे नम्बर पर हैं। जाहिर तौर पर वह टीम की मजबूत कड़ी हैं और ऐसे में चेन्नई को उन्हें बड़ा स्कोर करने से हर हाल में रोकना होगा। 

रोहित शर्मा

अगर केकेआर के खिलाफ पिछले मैच को छोड़ दिया जाए तो हिटमैन का बल्ला इस आइपीएल सीजन में कुछ खास नहीं कर पाया है। कप्तान रोहित शर्मा ने 13 पारियों में 32.16 की औसत से 386 रन बनाए हैं। हालांकि पिछले मैच में केकेआर के खिलाफ रोहित ने 48 गेंदों में 55 रन की बेहतरीन पारी खेल न सिर्फ जीत दर्ज की बल्कि टीम को पॉइंट टेबल में टॉप पर पहुंचाया। रोहित का बल्ला भले ही अब तक संघर्ष करता दिखा है लेकिन चेन्नई ये नहीं भूलना चाहिए कि अगर उनका बैट से रन निकलने शुरू हुए तो उसे रोकना नामुमकिन हो जाएगा। 

हार्दिक पंड्या

मुंबई इंडियंस के लिए इस सीजन हार्दिक पंड्या तुरूप का इक्का साबित हुए हैं। पंड्या ने इस सीजन कई तूफानी पारियां खेलीं और कई बार अकेले दम पर टीम को जीत दिलाई है। पंड्या मुंबई के लिए एक बेहतरीन ऑलराउंडर साबित हुए हैं। उन्होंने 14 पारियों में 47.50 की औसत से 380 रन बनाए हैं जिसमें उनकी केकेआर के खिलाफ 34 गेंदों में 91 रन की तूफानी पारी शामिल है।    

जसप्रीत बुमराह

जब टी20 की बात आती है तो डेथ ओवर में गेंदबाजी के मामले में जसप्रीत बुमराह से बहतर कोई नहीं है। हालांकि, वह इस सीजन की शुरुआत में चोटिल हो गए थे लेकिन इसके बावजूद मुंबई इंडियंस के सबसे ज़्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं। जबकि ओवरऑल रैंकिंग वो में छठे नम्बर पर हैं। डेथ ओवर स्पेशलिस्ट बुमराह ने अभी तक 14 पारियों में 6.78 की इकोनॉमी के साथ 17 विकेट चटकाए हैं।

लसित मलिंगा

श्रीलंका के स्टार गेंदबाज मलिंगा को टी20 स्पेशलिस्ट कहना गलत नहीं होगा। मुंबई के लिए मलिंगा जितने सफल इनिंग की शुरुआत में होते हैं उतने ही अंत में भी होते हैं। मलिंगा ने 10 मैच में 9.59 इकोनॉमी के साथ 15 विकेट झटके हैं।   

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Ruhee Parvez

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप