कोलकाता। राजस्थान रायल्स के स्टार बल्लेबाज जोस बटलर पिछले कुछ मुकाबलों में अपने प्रदर्शन से निराश हैं, लेकिन उन्होंने कहा कि वह प्लेआफ में जगह बनाने से पहले टूर्नामेंट के शुरुआती चरण में अपनी बड़ी पारियों से आत्मविश्वास हासिल करेंगे। इंग्लैंड के विकेटकीपर बल्लेबाज बटलर ने मौजूदा सत्र में तीन शतक और तीन अर्धशतक की मदद से 147 के स्ट्राइक रेट के साथ 629 रन बनाए हैं लेकिन पिछले तीन मैच में वह दो, दो और सात रन की पारियों के साथ केवल 11 रन बना पाए हैं। बटलर ने कहा, 'बेशक मैं आइपीएल में अपनी फार्म को लेकर रोमांचित था लेकिन पिछले कुछ मैच के प्रदर्शन से निराश हूं। टूर्नामेंट के पहले हाफ में मैं संभवत: अपने करियर के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट में से कुछ खेल रहा था और प्लेआफ से पहले उस प्रदर्शन से आत्मविश्वास हासिल कर रहा हूं।'

रायल्स के लिए खेलना विशेष है : चहल

कोलकाता। राजस्थान रायल्स के गेंदबाज युजवेंद्रा सिंह चहल ने अपनी सफलता का श्रेय टीम के एकजुट होकर खेलने को दिया और कहा कि पहले सत्र में टीम की अगुआई करने वाले दिवंगत शेन वार्न के कारण रायल्स के लिए खेलना विशेष है। मौजूदा टूर्नामेंट के सबसे सफल गेंदबाज चहल ने कहा, 'मुझे पता है कि रायल्स के साथ यह मेरा पहला सत्र है, लेकिन ऐसा लगता है कि मैं वर्षों से टीम के साथ खेल रहा हूं। यहां मैं मानसिक रूप से सहज हूं और मुझे लगता है कि इसका श्रेय यहां टीम के साथ जुड़े लोगों को जाता है।' उन्होंने कहा, 'दूसरी तरफ टीम के साथ खेलना मेरे लिए विशेष है क्योंकि वार्न रायल्स के लिए खेले और मुझे लगता है कि उनका आशीर्वाद मेरे साथ है। मुझे लगता है कि वह मुझे देख रहे हैं।'

मैं कभी सीखना नहीं छोडूंगा : संजू

कोलकाता। दूसरी बार पूर्ण सत्र के लिए फ्रेंचाइजी की अगुआई कर रहे राजस्थान रायल्स के कप्तान संजू सैमसन ने कहा कि वह कभी सीखना नहीं छोड़ेंगे और संवाद उनकी कप्तानी के अहम बिंदुओं में से एक है। सैमसन ने कहा, 'मुझे लगता है कि बल्लेबाज और कप्तान के रूप में मैंने विकास किया है और सीखना जारी रखा है। मैं इस टीम की अगुआई करने की जिम्मेदारी का लुत्फ उठा रहा हूं विशेषकर टीम में इतने सारे अनुभवी खिलाडि़यों की मौजूदगी में।' उन्होंने कहा, 'मुझे लगता है कि जब आप एक टीम की अगुआई कर रहे होते हैं तो यह बेहद महत्वपूर्ण है कि आपका नजरिया इस तरह हो कि आप दबाव की स्थिति में लोगों को अपने पास आकर बात करने की स्वीकृति दें और अपने विचार रखने दें।'

पावरप्ले में सही जगह पर गेंद डालना महत्वपूर्ण : शमी

कोलकाता। इस सत्र में आइपीएल में पावरप्ले के ओवरों में सर्वाधिक विकेट लेने वाले गुजरात टाइटंस के तेज गेंदबाज मुहम्मद शमी ने सोमवार को कहा कि उनकी सफलता का राज सही जगहों पर गेंद डालना है। शमी ने पावरप्ले के ओवरों में 11 विकेट लिए हैं। शमी ने कहा, 'टी-20 क्रिकेट में हमारा फोकस विविधता पर होता है। धीमी गेंद, बाउंसर, लेकिन मेरा मानना है कि सही जगह पर गेंद डालने से रन बनाना मुश्किल हो जाता है। मेरी हमेशा यही रणनीति रहती है। कुछ ओवरों के बाद सफेद गेंद स्विंग नहीं लेती है। ऐसे में नई गेंद के साथ मेरी यही रणनीति रहती है। यह सब अनुभव की बात है। लाइन और लैंथ पर नियंत्रण बेहद जरूरी है। टी-20 प्रारूप में खेलते समय दिमाग में बहुत कुछ चलता रहता है।'

Edited By: Sanjay Savern