नई दिल्ली, पीटीआइ। बायो बबल में कोरोना की सेंध के कारण आइपीएल के अनिश्चितकाल के लिए स्थगित होने के बाद ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी, कोच और सपोर्ट स्टाफ मालदीव जाकर अपने देश रवाना हो सकते हैं। कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण ऑस्ट्रेलिया ने 15 मई तक भारत पर सख्त यात्रा प्रतिबंध लगाया है। कुछ दिन पहले ऑस्ट्रेलिया के तीन खिलाड़ियों के हटने के बाद आइपीएल में इस देश के 14 खिलाड़ियों के अलावा कोच और सपोर्ट स्टाफ बचे हैं। कुल मिलाकर इनकी संख्या 40 है। 

पैट कमिंस, स्टीवन स्मिथ, ग्लेन मैक्सवेल, रिकी पोंटिंग और साइमन कैटिच समेत अन्य लोग कमेंटेटर माइकल स्लेटर की तरह मालदीव का रुख कर सकते हैं। बता दें कि स्लेटर लीग स्थगित होने से पहले ही वहां जा चुके हैं।  केकेआर के साथ अनुबंधित प्रीमियर पेसर पैट कमिंस ने स्थिति को अभूतपूर्व बताया है। आइपीएल स्थगित होने के बाद क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (CA) ने कहा कि वह भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के सीधे संपर्क में है ताकि ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों की सुरक्षित वापसी सुनिश्चित किया जा सके। इसने यह भी कहा कि वह यात्रा प्रतिबंध पर सरकार से छूट की मांग नहीं लेगा करेगा और बीसीसीआइ को आईपीएल में सभी प्रतिभागियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के उनके प्रयासों के लिए धन्यवाद दिया।

आइपीएल चेयरमैन बृजेश पटेल ने कहा कि बीसीसीआइ बायो-बबल में कोविड-19 संक्रमण के मामले सामने आने पर लीग को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित किए जाने के बाद विदेशी खिलाडि़यों की वापसी का तरीका ढूंढ लेगा।विदेशी खिलाड़ी कैसे वापस जाएंगे इस बारे में पूछे जाने पर पटेल ने कहा, 'हमें उन्हें स्वदेश भेजने की जरूरत है और हम ऐसा करने का तरीका ढूंढ लेंगे।'इस लुभावनी लीग से जुड़े विदेशी खिलाड़ी अपने देशों में लौटने को लेकर चिंतित हैं क्योकि भारत में घातक महामारी फैलने के कारण कई देशों ने यात्रा पाबंदियां लगाई हैं।बीसीसीआइ इससे पहले भी विदेशी खिलाडि़यों की सुरक्षित वापसी का आश्वासन दे चुका है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप