नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। इंडियन प्रीमियर लीग के 14वें सीजन के सबसे बड़े मुकाबले में आज शाम चेन्नई सुपर किंग्स का सामना कोलकाता नाइटराइडर्स की टीम के साथ होगा। यह चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धौनी का बतौर खिलाड़ी आखिरी फाइनल हो सकता है। आज के इस मुकाबले में उनके सामने सबसे बड़ी चुनौती होगी कोलकाता के आलराउंडर से निपटने की। बतौर गेंदबाज और बतौर बल्लेबाज वो दोनों ही तरीके से टीम के नुकसान पहुंचा सकते हैं।

आइपीएल के फाइनल में चेन्नई और कोलकाता की टीमें आज खिताब जीतने के लिए पूरा जोर लगाएंगी। इस मैच में कोलकाता के एक खिलाड़ी पर सबकी नजर रहेगी। सुनील नरेन ने अब तक इस टूर्नामेंट में काफी अच्छा प्रदर्शन किया है। बड़े मैच के इस खिलाड़ी पर चेन्नई के कप्तान की भी नजर रहेगी। नरेन ही एक ऐसे गेंदबाज हैं जिसने धौनी को सबसे ज्यादा परेशान किया है।

मिस्ट्री स्पिनर ने फाइनल में पहुंचाया

आरसीबी के खिलाफ नरेन की घातक गेंदबाजी ने टीम के क्वालीफायर की राह बनाई थी। गेंदबाजी करते हुए उन्होंने कप्तान विराट कोहली, एबी डिविलियर्स, भरत और मैक्सवेल का विकेट चटकाया था। यह चारों ही टीम के अहम बल्लेबाज थे और अगर चल जाते तो बड़ा स्कोर बना देते। इस सीजन में अब तक वह 11 विकेट हासिल कर चुके हैं। उनके नाम पर विकेट कम हैं लेकिन यह सारे विकेट उन्होंने अहम मौकों पर बड़े बल्लेबाजों को चटकाए हैं।

धौनी के खिलाफ नरेन शानदार

अब तक नरेन के खिलाफ धौनी सहज नजर नहीं आए हैं। टूर्नामेंट के इतिहास में वह अकेले गेंदबाज हैं जिसके खिलाफ वह चौका लगाने में कामयाब नहीं हुए ना खुलकर खेल पाए। टी20 क्रिकेट में धौनी और नरेन की टक्कर की बात करें तो महज दो चौके ही वह लगा पाए हैं। 83 गेंद का सामना करते हुए 44 रन बनाने कामयाब हुए धौनी दो बार आउट हुए हैं।

 

Edited By: Viplove Kumar