मेलबर्न, एएनआइ। आइपीएल में भाग लेने वाले ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर्स गुरुवार को मालदीव रवाना हो गए हैं, जहां वे ऑस्ट्रेलियाई सीमा के खुलने का इंतजार करेंगे। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया और ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर्स एसोसिएशन ने इसकी जानकारी दी है। ऑस्ट्रेलिया ने कोरोना महामारी की दूसरी लहर से जूझ रहे भारत से आने वालों के लिए 15 मई तक यात्रा पर प्रतिबंध लगा दिया है। ऑस्ट्रेलिया के 38 सदस्यीय दल में खिलाड़ी, कोच, अंपायर, कमेंटेटर शामिल हैं, जो अब मालदीव में इंतजार करेंगे। सीएसके के बल्लेबाजी कोच माइकल हसी कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के कारण भारत में ही रुके हुए हैं। क्रिकेटर से कमेंटेटर बने माइकल स्लेटर पहले ही मालदीव पहुंच गए हैं।

सीए और एसीए ने आइपील के अनिश्चितकाल के लिए स्थगित करने के फैसले के दो दिन से कम समय में भारत से मालदीव आस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को रवाना करने में उनकी जवाबदेही के लिए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) को धन्यवाद कहा। हसी को लेकर बोर्ड ने कहा कि माइक कोरोना के हल्के लक्षणों का सामना कर रहे हैं और अपनी आइपीएल फ्रेंचाइजी, चेन्नई सुपरकिंग्स की देखभाल में हैं। सीए और एसीए, बीसीसीआइ के साथ मिलकर काम करेंगे, ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि वे ऑस्ट्रेलिया सुरक्षित वापस आ जाएं। आइपीएल में शामिल प्रत्येक व्यक्ति की सुरक्षा बीसीसीआइ और आइपीएल गवर्निंग काउंसिल की प्रमुखता से लिया और ये लीग को स्थगित करने का सबसे बड़े कारणों में से एक था।

बता दें कि कोरोना की दूसरी लहर के बीच आइपीएल का आयोजन हो रहा था। बंद दरवाजे के पीछे मैच खेले जा रहे थे। इसके बाद भी कोरोना ने बायो बबल में सेंध लगा दी। कोलकाता नाइटराइडर्स (KKR) के दो खिलाड़ियों वरुण चक्रवर्ती और संदीप वॉरियर और चेन्नई सुपरकिंग्स (CSK) के गेंदबाजी कोच एल बालाजी के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के एक दिन बाद सनराइजर्स हैदराबाद के विकेटकीपर रिद्धिमान साहा व दिल्ली कैपिटल्स के स्पिनर अमित मिश्रा के संक्रमित पाए गए थे। इसके बाद टूर्नामेंट को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप