अबू धाबी, पीटीआइ। आइपीएल के प्लेऑफ की रेस में शामिल दो टीमें किंग्स इलेवन पंजाब और राजस्थान रॉयल्स, शुक्रवार को शेख जायेद स्टेडियम में आमने-सामने होंगी। दोनों का लक्ष्य जीत होगी, क्योंकि इनके पास अब आगे का सफर तय करने के लिए जीत के अलावा और कोई विकल्प नहीं रह गया है। पंजाब ने अभी तक 12 मैच खेले हैं और छह जीत, छह हार के साथ वह 12 अंक लेकर चौथे स्थान पर बनी हुई है। वहीं राजस्थान ने 12 मैचों में से पांच में जीत और सात में हार देखी है और वह 10 अंक लेकर सातवें स्थान पर है। दोनों टीमों की प्लेऑफ में जाने की संभावनाएं बरकरार हैं।

पंजाब ने बीते पांच मैचों में शानदार प्रदर्शन किया है और लगातार पांच जीत हासिल कर अपने आप को रेस में बनाए रखा है। अगर वह अपने बाकी के बचे दोनों मैच जीत जाती है, तो वह प्लेऑफ में जा सकती है। वहीं राजस्थान के लिए यह थोड़ा मुश्किल होगा। उसे दोनों मैच जीतने के अलावा पंजाब, कोलकाता नाइटराइडर्स और सनराइजर्स हैदराबाद की हार के भरोसे भी कुछ हद तक निर्भर रहना होगा। राजस्थान ने पिछले मैच में मौजूदा विजेता मुंबई इंडियंस को मात दी थी। मुंबई के खिलाफ बेन स्टोक्स ने जो फॉर्म दिखाई थी वह पंजाब के लिए सिरदर्द हो सकती है। लंबे समय से बल्ले से शांत रहने वाले स्टोक्स ने मुंबई के मजबूत गेंदबाजी आक्रमण के सामने शतक जड़ा और टीम को जीत दिलाई। संजू सैमसन ने भी उनका साथ दिया था और फॉर्म में वापसी करते हुए अर्धशतक जमाया था।

राजस्थान इन दोनों बल्लेबाजों से इसी तरह के प्रदर्शन की उम्मीद कर रही होगी। साथ ही वह उम्मीद करेगी की सलामी बल्लेबाज रॉबिन उथप्पा का बल्ला भी चले। कप्तान स्टीव स्मिथ और जोस बटलर भी टूर्नामेंट के अंतिम पड़ाव में अपना योगदान देना चाहेंगे। दोनों फॉर्म में भी हैं। राजस्थान के गेंदबाजों ने मुंबई के खिलाफ निराश किया था। मुंबई के बल्लेबाजों ने 195 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया था। जोफ्रा आर्चर की अगुआई वाले इस गेंदबाजी आक्रमण के सामने अब एक बार फिर अच्छा बल्लेबाजी आक्रमण है।

लोकेश राहुल और क्रिस गेल लगातार रन बना रहे हैं। मनदीप सिंह ने पिछले मैच में शानदार अर्धशतकीय पारी खेली और टीम को जीत दिलाई थी। मनदीप, मयंक अग्रवाल की अनुपस्थिति में राहुल के साथ पारी की शुरुआत करने आए थे। मयंक इस मैच में खेलेंगे या नहीं इस पर किसी तरह की सूचना टीम की तरफ से नहीं आई है। निकोलस पूरन ने भी फॉर्म हासिल कर ली है और अगर उनका बल्ला चलता है तो राजस्थान के गेंदबाजों को परेशानी हो सकती है।

वहीं जहां तक पंजाब की गेंदबाजी की बात है तो उसके लगभग सभी गेंदबाज अच्छा कर रहे हैं। मुहम्मद शमी, क्रिस जॉर्डन और युवा अर्शदीप सिंह की तेज गेंदबाजी तिगड़ी ने असरदार प्रदर्शन किया है। यह तीनों राजस्थान को कम स्कोर पर रोकने का दम रखते हैं। स्पिन में रवि बिश्नोई और मुरुगन अश्विन की जोड़ी ने भी मध्य के ओवरों में पंजाब के लिए बेहतरीन काम किया है। इस जोड़ी ने अहम साझेदारियां भी तोड़ी हैं और रन भी रोके हैं।

जीत दोनों टीमों को रेस में बनाए रखेगी, लेकिन हार उम्मीदें तोड़ देगी। पंजाब को अगर हार भी मिलती है तो वह फिर भी एक मैच जीत 14 अंक तक पहुंच सकती है, जहां फिर दूसरी टीमों के आंकड़े उसका प्लेऑफ का भविष्य तय करेंगे, लेकिन राजस्थान के लिए हार बेहद नुकसानदायक रहेगी और वह प्लेऑफ की रेस से बाहर भी हो सकती है।

Aus-vs-Ind

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस