नई दिल्ली, जेएनएन। दिल्ली कैपिटल्स (DC) और चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) आइपीएल के 12वें सीजन का दूसरा क्वालीफायर मुकाबला बेहद रोमांचक होने की उम्मीद है। दोनों टीमों की नजरें जीत पर हैं। हारने वाली टीम का सफर यहीं समाप्त हो जाएगा। जीतने वाली टीम 12 मई को मुंबई इंडियंस के साथ फाइनल खेलेगी। । चेन्नई भले ही तीन बार की चैपिंयन हो, लेकिन वह दिल्ली को हलके में नहीं ले सकती है। हालांकि, इस सीजन में चेन्नई और दिल्ली दो बार आमने-सामने आए हैं। दोनों बार चेन्नई ने बाजी मारी है।

चेन्नई की टीम की बल्लेबाजी भले ही इस सीजन में चिंता विषय रहा हो, लेकिन धौनी की टीम ने दो बार दिल्ली को पटखनी दी है। इससे पहले भी चेन्नई ने एक बार दिल्ली का सपना तोड़ा था। इस बार दिल्ली को सवाधन रहने की जरूरत है। दिल्ली अगर जीत जाती है, तो यह उसका पहला फाइनल होगा। चेन्नई सुपर किंग्स को अपने पिछले मैच में मुंबई के खिलाफ हार झेलनी पड़ी थी जिसने उसकी कई कमियां उजागर की हैं। धौनी एक चतुर कप्तान हैं और इसमें कोई शक़ नहीं कि वह अपनी टीम की कमजोरियों से भलीभांती वाकिफ हैं।

दिल्ली की टीम का उत्साह कैसा भी हो, लेकिन चेन्नई की टीम उनपर भारी पड़ सकती है। धौनी की कप्तानी के अलावा पांच ऐसे खिलाड़ी हैं, जो दिल्ली और फाइनल के बीच दीवार बनकर खड़े हैं। दिल्ली को इस दीवार को गिराना ही होगा।

महेंद्र सिंह धौनी

दिल्ली इस बात को अच्छी तरह जानती है कि धौनी एक ऐसे कप्तान हैं जो अकेले दम पर मैच का रुख बदल सकते हैं। धौनी खुद मिडिल ऑर्डर को मजबूती देते हैं और इसलिए वह चेन्नई का प्रमुख हिस्सा हैं। सिर्फ बल्ले से ही नहीं बल्कि विकेट के पीछे उनके जैसी फुर्ती किसी युवा खिलाड़ी में भी नहीं है। यहां कि धौनी विकेट के पीछे से लगातार ज़रूरी सलाह देते हुए अपने गेंदबाजों की मदद भी करते हैं। धौनी ने 13 पारियों में 138.69 की औसत से 405 रन बनाए हैं। जिसमें तीन अर्धशतक शामिल हैं।

रवींद्र जडेजा

चेन्नई के पास जडेजा के रूप में एक ऐसा खिलाड़ी है जो गेंदबाजी और जरूरत पड़ने पर अच्छी बल्लेबाजी पर कर लेता है। जडेजा ने इस सीजन जबरदस्त ऑलराउंडर प्रदर्शन कर 14 मैचों में 6.28 इकोनॉमी के साथ 13 विकेट झटके हैं। जबकि बल्लेबाजी करते हुए 33.66 की औसत से 101 रन भी बनाए हैं। जडेजा ने इस सीजन कई मौकों पर टीम को आखिरी ओवर में जीत दिलाई है।

सुरेश रैना

तीसरे नम्बर के बल्लेबाज सुरेश रैना ने पंजाब के खिलाफ शानदार अर्धशतकीय पारी खेली थी, इसलिए इस मैच में भी उनसे ऐसे ही प्रदर्शन की उम्मीद होगी। हालांकि अच्छी ओपनिंग न मिलने पर कई मौकों पर संघर्ष करते भी दिखे हैं। रैना ने 15 मैचों में 26.00 की औसत से 364 रन बनाए हैं। जिसमें तीन अर्धशतक शामिल हैं।

इमरान ताहिर

इस सीजन दक्षिण अफ्रीकी स्टार गेंदबाज इमरान ताहिर CSK के लिए तुरूप का इक्का साबित हुए हैं। ताहिर की शानदार गेंदबाजी की मदद से चेन्नई सामने वाली टीम बड़ा स्कोर खड़ा करने से रोक पाई है। ताहिर 23 विकेट के साथ सीजन के दूसरे सबसे सफल गेंदबाज हैं। उनसे ऊपर 25 विकेट के साथ कागिसो रबाडा टॉप पर हैं। ताहिर ने 6.50 की इकोनॉमी के साथ 23 विकेट लिए जिसमें, दो बार एक मैच में चार विकेट लेने का कारनामा भी किया।  

फाफ डू प्लेसी

वॉटसन के साथ मिलकर डू प्लेसी ने टीम को अच्छी शुरुआत दी है। अभी तक डू प्लेसी ने 10 पारियों में 39.25 की औसत से 320 रन बनाए हैं। जिसमें दो अर्धशतक भी शामिल हैं। डू प्लेसी बड़े मैचों के खिलाड़ी है, वो दिल्ली के खिलाफ तबाही मचा सकते हैं।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Rajat Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप