चेन्नई, जेएनएन। चेन्नई सुपर किंग्स और मुंबई इंडियंस (MI) के बीच आइपीएल के 12वें सीजन का पहला क्वालीफायर मुकाबला बेहद रोमांचक होने की उम्मीद है। दोनों टीमों की नजरें जीत पर हैं लेकिन इस मैच में हार हालांकि किसी भी टीम के सफर को खत्म नहीं करेगी। इस मैच में जीतने वाली टीम बेशक सीधे फाइनल में पहुंचेगी लेकिन हारने वाली टीम को दूसरे क्वालीफायर में फाइनल में पहुंचने का एक और मौका मिलेगा। 

मुंबई इंडियंस इस सीजन पहली टीम थी जिसने चेन्नई को उसके घर में हराया हो। मुंबई के खिलाफ चेन्नई अधिकतर मौकों पर भले ही कमजोर दिखी हो लेकिन इसी को ध्यान में रखते हुए चेन्नई इस मैच को हल्के में नहीं लेगी। चेन्नई सुपर किंग्स को अपने पिछले मैच में पंजाब के खिलाफ हार झेलनी पड़ी थी जिसने उसकी कई कमियां उजागर की हैं। धौनी एक चतुर कप्तान हैं और इसमें कोई शक़ नहीं कि वह अपनी टीम की कमजोरियों से भलीभांती वाकिफ हैं।

आइपीएल प्‍लेऑफ में दोनों टीमें कुल चार बार भिड़ चुकी हैं। इनमें से तीन मैच चेन्‍नई ने जीते जबकि मुंबई को सिर्फ एक मैच में जीत मिली है। इसके अलावा आइपीएल के फाइनल में तीन बार दोनों टीमों के बीच मुकाबला हुआ है। इसमें से दो बार मुंबई ने बाजी मारी जबकि चेन्‍नई एक बार जीतने में सफल रही है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि मुंबई के सामने चेन्नई कहीं कम है। चेन्नई की टीम ऐसे खिलाड़ियों से भरी है जो आखिरी ओवर में मैच का पासा पलटने में माहिर हैं। 

 महेंद्र सिंह धौनी

मुंबई इंडियंस इस बात को अच्छी तरह जानती है कि धौनी एक ऐसे कप्तान हैं जो अकेले दम पर मैच का रुख बदल सकते हैं। धौनी खुद मिडिल ऑर्डर को मजबूती देते हैं और इसलिए वह चेन्नई का प्रमुख हिस्सा हैं। सिर्फ बल्ले से ही नहीं बल्कि विकेट के पीछे उनके जैसी फुर्ती किसी युवा खिलाड़ी में भी नहीं है। यहां कि धौनी विकेट के पीछे से लगातार ज़रूरी सलाह देते हुए अपने गेंदबाजों की मदद भी करते हैं। धौनी ने 9 पारियों में 122 की औसत से 368 रन बनाए हैं। जिसमें तीन अर्धशतक शामिल हैं। 

रवींद्र जडेजा

चेन्नई के पास जडेजा के रूप में एक ऐसा खिलाड़ी है जो गेंदबाजी और जरूरत पड़ने पर अच्छी बल्लेबाजी पर कर लेता है। जडेजा ने इस सीजन जबरदस्त ऑलराउंडर प्रदर्शन कर 13 मैचों में 6.44 इकोनॉमी के साथ 13 विकेट झटके हैं। जबकि बल्लेबाजी करते हुए 33.66 की औसत से 166 रन भी बनाए हैं। जडेजा ने इस सीजन कई मौकों पर टीम को आखिरी ओवर में जीत दिलाई है। 

सुरेश रैना

तीसरे नम्बर के बल्लेबाज सुरेश रैना ने पिछले मैच में शानदार अर्धशतकीय पारी खेली थी, इसलिए इस मैच में भी उनसे ऐसे ही प्रदर्शन की उम्मीद होगी। हालांकि अच्छी ओपनिंग न मिलने पर कई मौकों पर संघर्ष करते भी दिखे हैं। रैना ने 14 मैचों में 27.61 की औसत से 369 रन बनाए हैं। जिसमें तीन अर्धशतक शामिल हैं। 

इमरान ताहिर

इस सीजन दक्षिण अफ्रीकी स्टार गेंदबाज इमरान ताहिर CSK के लिए तुरूप का इक्का साबित हुए हैं। ताहिर की शानदार गेंदबाजी की मदद से चेन्नई सामने वाली टीम बड़ा स्कोर खड़ा करने से रोक पाई है। ताहिर 21 विकेट के साथ सीजन के दूसरे सबसे सफल गेंदबाज हैं। उनसे ऊपर 15 विकेट के साथ कागिसो रबाडा टॉप पर हैं। ताहिर ने 6.50 की इकोनॉमी के साथ 21 विकेट लिए जिसमें, दो बार एक मैच में चार विकेट लेने का कारनामा भी किया।  

फाफ डू प्लेसी

 

वॉटसन के साथ मिलकर डू प्लेसी ने टीम को अच्छी शुरुआत दी है। अभी तक डू प्लेसी ने 9 पारियों में 39.25 की औसत से 314 रन बनाए हैं। जिसमें दो अर्धशतक भी शामिल हैं। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Ruhee Parvez

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप