जयपुर, आइएएनएस। राजस्थान रॉयल्स को अगर आइपीएल के 12वें संस्करण के प्लेऑफ में पहुंचने की अपनी उम्मीदों को जिंदा रखना है तो उसे किसी भी हालत में शनिवार को सवाई मानसिंह स्टेडियम में मुंबई इंडियंस के खिलाफ होने वाले मैच में जीत दर्ज करनी होगी। आठ मैचों में चार अंक हासिल करके राजस्थान की टीम तालिका में फिलहाल, सातवें पायदान पर काबिज है।

पिछले मुकाबले में राजस्थान को किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ 12 रनों से हार झेलनी पड़ी थी। पंजाब के खिलाफ 183 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए राजस्थान 16वें ओवर तक मुकाबले में बनी हुई थी, लेकिन तीसरा विकेट गिरने के बाद अजिंक्य रहाणे की टीम मैच में पिछड़ती चली गई। इस हार ने यह साबित का दिया की राजस्थान की टीम तेजी से रन बनाने के लिए जोस बटलर पर अधिक निर्भर है। रहाणे और स्टीव स्मिथ ने इस संस्करण में अभी तक बल्ले से कोई बड़ा योगदान नहीं दिया है, जबकि पिछले महीने सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ शतक जड़ने के बाद से संजू सैमसन के फॉर्म में भी गिरावट आई है। स्मिथ पिछले मैच में नहीं खेले थे और पंजाब के खिलाफ वह वापसी कर सकते हैं। उनके अलावा ऑस्ट्रेलिया के एश्टन टर्नर को भी रहाणे एक बार फिर मौका दे सकते हैं। इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर मेजबान टीम के अहम खिलाड़ी हैं और मुंबई के खिलाफ भी उनसे दमदार प्रदर्शन की उम्मीद होगी।

दूसरी ओर, तीन बार की आइपीएल विजेता मुंबई शानदार फॉर्म में चल रही है। पिछले मैच में मुंबई ने दिल्ली कैपिटल्स को उसी के घर में 40 रनों से करारी शिकस्त दी। मुंबई का कोई भी बल्लेबाज दिल्ली के खिलाफ अर्धशतक नहीं लगा पाया, लेकिन राहुल चाहर के तीन विकेट और जसप्रीत बुमराह की शानदार गेंदबाजी के दम पर मुंबई मुकाबला जीतने में कामयाब रही। ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या और क्रुणाल पांड्या ने भी मुकाबले में बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए अपनी उपयोगिता सबित की। मुंबई जीत की प्रबल दावेदार है, लेकिन राजस्थान दोनों टीमों के बीच इस सत्र में हुए पहले मुकाबले से प्रेरणा ले सकती है। राजस्थान ने अंतिम ओवर तक गए उस मुकाबले में चार विकेट से जीत दर्ज की थी।

Posted By: Sanjay Savern