मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

चेन्नई,एजेंसी। इंडियन प्रीमियर लीग (IPl 2019) के 12 वें सीजन का आगाज शनिवार को हुआ। इस सीजन का पहला मैच गत चैंपियन चेन्नई (CSK) और बैंगलोर (RCB) के बीच चेन्नई में खेला गया। पिछले संस्करणों के विपरीत, इस साल मैच से पहले कोई उद्घाटन समारोह का आयोजन नहीं हुआ,लेकिन एम ए चिदंबरम स्टेडियम में सेना के सम्मान में एक सैन्य बैंड ने प्रदर्शन किया। भारतीय सशस्त्र बलों के सम्मान समारोह से पहले मद्रास रेजिमेंट का बैंड यहां प्रदर्शन किया। इस दौरान भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) सशस्त्र बलों के वेलफेयर में 20 करोड़ रुपये डोनेट किया।

यह शो लगभग 15 से 20 मिनट का हुआ। टॉस निर्धारित समय से 10 मिनट पहले हुआ। इस कार्यक्रम में सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त प्रशासकों की समिति (सीओए) के सदस्य और भारतीय सशस्त्र बलों के प्रतिनिधि भी कार्यक्रम स्थल पर मौजूद रहे। इस कार्यक्रम का आयोजन पुलवामा आतंकी हमले (Pulwama Terror Attack) में शहीद हुए सीआरपीएफ जवानों के सम्मान में किया गया। 

चेन्नई में पहला मुकाबला शुरू होने से पहले का बीसीसीआई का कामकाज देख रही प्रशासकों की समिति (सीओए) के दो सदस्यों, बोर्ड के कार्यकारी अध्यक्ष सीके खन्ना और कोषाध्यक्ष अनिरद्ध चौधरी ने मिलकर सैन्य बलों को 20 करोड़ रुपये की राशि प्रदान की। बीसीसीआई ने भारतीय थल सेना को 11 करोड़ रुपये, सीआरपीएफ को सात करोड़ रुपये और नौसेना और वायुसेना को एक-एक करोड़ रुपये दिए गए हैं। 

इसके अलावा चेन्नई सुपर किंग्स की तरफ से कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूर के साथ हुए मैच के टिकटों से प्राप्त हुई राशि पुलवामा आतंकी हमले के शहीदों के परिजनों को दी। उन्होंने दो करोड़ रुपये का  चेक सौंपा। सीओए के चेयरमैन विनोद राय ने कहा कि महासंघ के रूप में हमने महसूस किया कि नियमित रूप से होने वाला आईपीएल उद्घाटन समारोह इस बार आयोजित नहीं करना ठीक होगा। हमने उद्घाटन समारोह की राशि उनको देने का फैसला किया, जो महत्वपूर्ण हैं और सभी के दिल के करीब हैं।

 

Posted By: Tanisk

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप