नई दिल्ली, जेएनएन। MI vs DC युवा विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत की तेजतर्रार अर्धशतकीय पारी की मदद से दिल्ली कैपिटल्स ने मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में हुए आइपीएल-12 के अपने पहले मैच में मुंबई इंडियंस के खिलाफ छह विकेट पर 213 रन का विशाल स्कोर बनाया। दिल्ली की शुरुआत खराब रही थी, लेकिन पंत ने 27 गेंदों में सात चौकों और सात छक्कों के दम पर ताबड़तोड़ 78 रनों की पारी खेलकर अपनी टीम को मजबूत स्थिति में पहुंचा दिया। जीत के लक्ष्य का पीछा करने उतरी मुंबई की टीम 176 रन पर ऑल आउट हो गई और उसे 37 रन से हार का सामना करना पड़ा। मुंबई आइपीएल इतिहास में 200 से ऊपर का लक्ष्य कभी हासिल नहीं कर पाई है।

मेहमानों की खराब शुरुआत : मुंबई ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। दिल्ली की टीम अपने पहले ही मैच में पांच विशेषज्ञ बल्लेबाजों को लेकर उतरी थी। हालांकि, उसका यह फैसला तब गलत लग रहा था जब शुरुआत में ही उसे दो झटके लग गए। मुंबई के तेज गेंदबाज मिशेल मैक्लेनाघन (3/40) ने अपने कप्तान रोहित के फैसले को सही साबित करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। दिल्ली ने पावरप्ले के शुरुआती छह ओवर में 45 रन पर अपने महत्वपूर्ण दो विकेट गंवा दिए। मैक्लेनाघन ने अपने पहले और पारी के दूसरे ओवर की तीसरी गेंद पर पृथ्वी शॉ (07) को विकेटकीपर डिकॉक के हाथों कैच कराया। कप्तान श्रेयस अय्यर ने दो चौके और एक छक्का लगाकर अपने पैर जमाने की कोशिश की, लेकिन मैक्लेनाघन ने अय्यर (16) को चलता कर दिया, जिनका पोलार्ड ने शानदार तरीके से लपका।

धवन और इंग्राम ने संभाला : शिखर धवन ने दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज कोलिन इंग्राम के साथ पारी को संभाला। दोनों ने धीरे-धीरे रनों की गति को आगे बढ़ाया। 10 ओवर के बाद दिल्ली का स्कोर दो विकेट पर 82 रन हो गया। इंग्राम ने क्रुणाल के दूसरे और पारी के 11वें ओवर में तीन चौके लगाकर 13 रन बनाए। धवन ने बुमराह की गेंद पर चौका लगाकर टीम के 100 रन पूरे किए। इसके बाद धवन और इंग्राम ने बेन कटिंग (1/27) को निशाने पर लिया, लेकिन इंग्राम छक्का लगाने के प्रयास में हार्दिक को कैच दे बैठे। उन्होंने 32 गेंदों में सात चौके और एक छक्का जड़ा। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 56 गेंदों में 84 रन जोड़े। इस बीच, धवन भी हार्दिक (1/41) की गेंद पर यादव को कैच देकर आउट हो गए। उन्होंने चार चौके और एक छक्का लगाया। धवन पहले सत्र के बाद एक बार फिर दिल्ली की टीम के लिए खेले। इस दौरान बीच के सभी सत्रों में वह लगातार सनराइजर्स हैदराबाद का हिस्सा रहे।

पंत ने बिखेरा जलवा : जब पंत मैदान पर उतरे तब दिल्ली का स्कोर तीन विकेट पर 112 रन था। यहां से वह टीम को बड़े स्कोर तक ले गए। हालांकि उनकी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू दो मैचों की टी-20 सीरीज खराब रही थी, लेकिन उन्होंने यहां इसकी भरपाई करने की कोशिश की। पंत ने 15वें ओवर में कटिंग पर दो चौके और एक छक्का लगाया। उन्होंने हार्दिक के ओवर में भी एक चौका और दो छक्के जड़े। इस दौरान, मैक्लेनाघन ने कीमो पॉल (03) को पवेलियन भेज दिया। जसप्रीत बुमराह (1/40) ने अक्षर पटेल (04) को सीमा रेखा के पास सलाम के हाथों लपकवाया। पंत ने 18वें ओवर में बुमराह के की गेंद पर चौका लगाकर 18 गेंदों पर अर्धशतक पूरा किया। उन्होंने इस ओवर में एक छक्का और एक चौका लगाया। 19वें ओवर में उन्होंने सलाम पर दो छक्के और एक चौका लगाया। उन्होंने इस ओवर में दूसरा छक्का एक हाथ से मारा। उन्होंने पारी के अंतिम ओवर में बुमराह की गेंद पर छक्का जड़कर टीम का स्कोर 200 के पार पहुंचाया।

मुंबई की खराब बल्लेबाजी : मुंबई की शुरुआत दूसरी पारी में अच्छी नहीं रही और टीम के कप्तान व ओपनर बल्लेबाज रोहित शर्मा 13 गेंदों पर 14 रन बनाकर ईशांत शर्मा का शिकार बन गए। रोहित का कैच राहुल तेवतिया ने लपक लिया। मुंबई का दूसरा विकेट सूर्यकुमार यादव के तौर पर गिरा। वो दो रन बनाकर आउट हो गए। डी कॉक 27 रन बनाकर ईशांत की गेंद पर ट्रेंट बोल्ट के हाथों बाउंड्री पर लपके गए। किरोन पोलार्ड 21 रन बनाकर कैच आउट हो गए वहीं हार्दिक पांड्या अपना खाता भी नहीं खोल पाए और अक्षर पटेल की गेंद पर क्लीन बोल्ड हो गए। 

युवराज सिंह ने खेली अर्धशतकीय पारी: युवराज सिंह ने इस आइपीएल में अच्छी शुरुआत की। उन्होंने दिल्ली के खिलाफ पहले ही मैच में 35 गेंदों पर 53 रन की पारी खेली। अपनी इस पारी में उन्होंने पांच चौके और तीन छक्के लगाए। उनका स्ट्राइक रेट 151.43 का रहा। युवराज सिंह की इस पारी से मुंबई को राहत जरूर मिलेगी क्योंकि आगे के मैचों में वो अपनी टीम के लिए मध्यक्रम में अच्छी भूमिका सकते हैं। इसके अलावा इस पारी से युवी का आत्मविश्वास भी बढ़ेगा। 

बुमराह को कंधे में हुई परेशानी : पंत के शॉट को फॉलोथ्रू में रोकने की कोशिश में बुमराह पिच पर गिर गए और उन्हें बायें कंधे में कुछ परेशानी भी हुई। वह कुछ देर तक मैदान पर कंधा पकड़कर लेटे रहे। यह पारी की अंतिम गेंद थी। इस अंतिम ओवर में दो छक्कों की मदद से 16 रन बने। अतिम पांच ओवर में दिल्ली ने 82 रन कूट डाले।

 

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप