विकास शर्मा, चंडीगढ़। केएल राहुल के अर्धशतक (52) और उसके बाद कप्तान रविचंद्रन अश्विन की अगुआई में गेंदबाजों के बेहतरीन प्रदर्शन की बदौलत किंग्स इलेवन पंजाब ने मंगलवार को यहां अपने घरेलू मैदान में राजस्थान रॉयल्स को 12 रनों से हराकर शानदार जीत हासिल की। यह किंग्स इलेवन पंजाब की इस सत्र में पांचवीं जीत है और उसने प्लेऑफ में पंहुचने की अपनी उम्मीद को कायम रखा। पीसीए स्टेडियम में हुए इस मुकाबले में पंजाब की टीम ने 20 ओवर में छह विकेट के नुकसान पर 182 रन बनाए। लक्ष्य का पीछा करते हुए राजस्थान रॉयल्स की टीम 20 ओवर सात विकेट के नुकसान पर 170 रन ही बना सकी।

लक्ष्य का पीछा करते उतरी राजस्थान रॉयल्स की टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही। उसने पांचवें ओवर में ही 38 रन के स्कोर पर जोस बटलर का विकेट खो दिया, जिन्हें पदार्पण मैच खेल रहे अर्शदीप सिंह ने निकोलस पूरन के हाथों कैच कराकर पवेलियन भेजा। हालांकि, इसके बाद राहुल त्रिपाठी (50) और संजू सैमसन (27) ने दूसरे विकेट के लिए 59 रन जोड़कर राजस्थान को अच्छी स्थिति में पहुंचाया। इस साझेदारी को 12वें ओवर में कप्तान अश्विन ने सैमसन को बोल्ड करके तोड़ा।

इसके बाद त्रिपाठी का साथ देने कप्तान अजिंक्य रहाणे (26) आए। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 30 रन की साझेदारी कर पंजाब की टीम पर दबाव बनाया। त्रिपाठी ने 44 गेंदों पर अर्धशतक पूरा किया, लेकिन इसके तुरंत बाद वह आर अश्विन की गेंद पर लापरवाही भरा शॉट खेलकर मयंक अग्रवाल को कैच दे बैठे। हालांकि, इसी ओवर में त्रिपाठी को जीवनदान भी मिला था, जब वह स्टंप आउट होने से बच गए थे। त्रिपाठी के आउट होने से स्कोर 16 ओवर में तीन विकेट पर 127 रन हो गया।

यहां से राजस्थान की पारी लड़खड़ा गई। हालांकि, स्टुअर्ट बिन्नी ने अंतिम ओवरों में 11 गेंदों पर तीन छक्कों और दो चौकों की मदद से नाबाद 33 रन बनाकर राजस्थान के लिए कुछ उम्मीद जगाई, लेकिन वह अपनी टीम को जीत नहीं दिला सके। पंजाब की ओर से कप्तान अश्विन ने 24 रन देकर दो विकेट, अर्शदीप सिंह ने 43 रन देकर दो विकेट, मुहम्मद शमी ने 46 रन देकर दो विकेट और मुरुगन अश्विन ने 24 रन देकर एक विकेट लिया।

इससे पहले पीसीए स्टेडियम में टॉस जीतकर राजस्थान रॉयल्स ने पहले फिल्डिंग करने का फैसला किया। पंजाब की ओर से पारी की शुरुआत करने के लिए विश्व कप टीम में चुने गए राहुल और क्रिस गेल आए। दोनों बल्लेबाजों ने शानदार शुरुआत करते हुए पहले विकेट के 38 रन जोड़े ही थे कि तेज गेंदबाज आर्चर ने गेल को विकेटकीपर संजू सैमसन के हाथों कैच आउट करवाकर इस जोड़ी को तोड़ दिया। गेल ने 22 गेंदों पर तीन छक्के व दो चौकों की मदद से 30 की पारी खेली। पावर प्ले में किंग्स इलेवन एक विकेट के नुकसान पर 39 रन ही बना सकी। गेल के आउट होने के बाद मंयक अग्रवाल भी सस्ते में चलते बने। नौवें ओवर की चौथी गेंद पर अग्रवाल को तेज गेंदबाज सोढ़ी ने आर्चर के हाथों कैच आउट करवा दिया। उन्होंने 12 गेंदों पर दो छक्के और एक चौके की मदद से 26 रन बनाए। डेविड मिलर और राहुल ने 13.2 ओवर में टीम के स्कोर को 100 रन के पार पहुंचा।

17वें ओवर की पहली गेंद पर आर्चर ने मिलर को बोल्ड कर दिया, लेकिन भाग्य ने मिलर का साथ दिया और अंपायर ने उस गेंद को नोबॉल करार देकर मिलर को जीवनदान दे दिया। इसी ओवर में राहुल ने चौका लगाकर अपना अर्धशतक पूरा किया। राहुल अर्धशतक पूरा करने के बाद ज्यादा देर क्रीज पर टिक नहीं सके और उनादकट की गेंद पर आर्चर के हाथों कैच आउट हो गए। राहुल ने 47 गेंदों पर दो छक्के और तीन चौकों की मदद से 53 रनों की पारी खेली। निकोलस पूरन (05) को आर्चर ने अंजिक्य राहणे के हाथों कैच आउट कराया। इसी ओवर की आखिरी गेंद पर आर्चर ने मनदीप सिंह (00) पर बोल्ड कर अपनी टीम एक ओर सफलता दिलाई। मैच के आखिरी ओवर में कुलकर्णी की कप्तान आर अश्विन ने जमकर धुनाई की चार गेंदों में दो छक्के और एक चौके की मदद से 17 बनाए। मैच के आखिर ओवर में 18 रन बने।

 

Posted By: Vikash Gaur