विकास शर्मा, मोहाली। IPL 2019 के प्लेऑफ में स्थान सुनिश्चित कर चुकी चेन्नई सुपर किंग्स रविवार को होने वाले आइपीएल के अंतिम लीग मैच में यहां किंग्स इलेवन पंजाब पर जीत दर्ज करने के इरादे से उतरेगी। मुंबई इंडियंस के खिलाफ मिली हार के बाद महेंद्र सिंह धौनी की अगुआई वाली चेन्नई ने पिछले मैच में दिल्ली कैपिटल्स पर 80 रन की बड़ी जीत हासिल कर फिर से आत्मविश्वास हासिल किया।

हालांकि, मुंबई से मिली हार से उनका रन रेट गिर गया और अब लीग चरण में उनका एक ही मैच बचा है तो गत चैंपियन टीम को अपना दबदबा बरकरार रखने के लिए इस मैच में जीत की जरूरत होगी। चेन्नई के अभी 13 मैच में 18 अंक हैं और जीत से उनके 20 अंक हो जाएंगे, जो किसी भी टीम के हासिल करने की संभावना नहीं ह। वहीं, प्लेऑफ की दौड़ से बाहर हो चुकी पंजाब की टीम सिर्फ प्रतिष्ठा के लिए खेलेगी। उसके 13 मैचों में 10 अंक हैं। पंजाब की प्लेऑफ में उम्मीद यहां पिछले मैच में कोलकाता नाइटराइडर्स से सात विकेट की हार के बाद टूट गई।

पंजाब ने हर बार की तरह इस बार भी सत्र में शानदार शुरुआत की, लेकिन पिछले चार मैचों में उसे हार का सामना करना पड़ा। घरेलू मैदान में खेले गए पिछले मुकाबले में कोलकाता के खिलाफ उसके सल्लामी बल्लेबाज क्रिस गेल और केएल राहुल सस्ते में चलते बने, जबकि गेंदबाज भी कुछ कमाल नहीं कर सके। हार के पीछे कप्तान रविचंद्रन अश्विन पावरप्ले के दौरान धीमी गति से हुई बल्लेबाजी को जिम्मेदार ठहरा चुके हैं। अब अपने आखिरी मैच में पंजाब हर हाल में जीत चाहेगी। अश्विन टीम में बदलाव कर सकते हैं, मंदीप सिंह के स्थान पर करुण नायर को मौका दे सकते है।

वहीं, चेन्नई ने पूरे सत्र में शानदार प्रदर्शन किया है। उसने पिछले मुकाबले में दिल्ली कैपिटल्स को 80 रनों से हराया था। इस मैच में फॉफ डुप्लेसिस, सुरेश रैना और धौनी ने जहां अपने बल्ले कमाल दिखाया था तो वहीं इमरान ताहिर और रवींद्र जडेजा ने गेंद से कमाल दिखाया। ऐसे में धौनी इसी टीम के मैदान में उतर सकते हैं।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Vikash Gaur