कोलकाता, विशाल श्रेष्ठ। नया सत्र, नई शुरुआत, नई उम्मीद। चुनावी महासमर के बीच आइपीएल-12 का बिगुल भी बज चुका है। ऐतिहासिक ईडन गार्डेंस स्टेडियम क्रिकेट के घमासान के लिए तैयार है। घरेलू टीम कोलकाता नाइटराइडर्स रविवार को यहां सनराइजर्स हैदराबाद से जोरआजमाइश करने उतरेगी। दिनेश कार्तिक की अगुआई वाली नाइटराइडर्स की नजर सनराइजर्स को हराकर न सिर्फ जीत से आगाज करने, बल्कि पिछले सत्र के एलिमिनेटर में मिली हार का हिसाब चुकता करने पर भी होगी।

चूंकि दोनों टीमों का नए सत्र में यह पहला मैच है इसलिए परस्पर तुलना करना बेमानी होगी, लेकिन मैदान पर खेल शुरू होने से पहले ही मनोवैज्ञानिक खेल जरूर शुरू हो गया है। नाइटराइडर्स के सहायक कोच साइमन कैटिच अपनी टीम के बल्लेबाजी क्रम को आजमाइश से पहले ही सबसे मजबूत करार दे चुके हैं। वैसे कोलकाता के संयोजन को देखें तो दो बार की चैंपियन यह टीम काफी मजबूत दिख भी रही है।

नाइटराइडर्स के पास दिनेश जैसा शांत दिमाग वाला कप्तान है, जिसकी पहचान टी-20 विशेषज्ञ बल्लेबाज के तौर पर भी है। यह टीम क्रिस लिन, आंद्रे रसेल, सुनील नरेन, कार्लोस ब्रेथवेट और रॉबिन उथप्पा जैसे विस्फोटक बल्लेबाजों से भी लबरेज है। वहीं, नीतीश राणा और शुभमन गिल के रूप में दो और उम्दा बल्लेबाज भी हैं। टीम के छह बल्लेबाज दिनेश कार्तिक, क्रिस लिन, सुनील नरेन, रॉबिन उथप्पा, आंद्रे रसेल और नीतीश राणा पिछले सत्र में शीर्ष 25 रन स्कोर में शामिल थे।

टीम का स्पिन गेंदबाजी विभाग भी बेहद मजबूत है। नरेन और कुलदीप अपने बूते मैच जिताने का माद्दा रखते हैं। साथ में अनुभवी पीयूष चावला भी हैं। यह स्पिन तिकड़ी किसी भी टीम के लिए सिरदर्द बन सकती है। टीम में कर्नाटक के रहस्यमय स्पिनर केसी करियप्पा को फिर से शामिल कर विकल्प को बढ़ाया गया है। तेज गेंदबाजी हालांकि स्पिन जितनी तगड़ी नहीं लग रही। आंद्रे रसेल को छोड़कर कोई बड़ा नाम नही दिख रहा। ऐसे में उनपर बड़ी जिम्मेदारी होगी।

दूसरी ओर गत उपविजेता सनराइजर्स हैदराबाद भी पूरे जोश में है। कप्तान केन विलियमसन की जगह इस मैच में उप कप्तान भुवनेश्वर कुमार कप्तानी करेंगे। हालांकि चोटिल विलियमसन भारत पहुंच चुके हैं और उन्होंने हल्का अभ्यास भी किया। इस मैच में सबकी निगाहें हालांकि डेविड वार्नर पर होंगी, जो गेंद से छेड़खानी के मामले में एक साल का प्रतिबंध झेलने के बाद वापसी कर रहे हैं। वार्नर विरोधी टीमों के लिए बड़ी ‘वार्निंग’ हैं। लंबे समय तक चोटिल रहे विकेटकीपर बल्लेबाज रिद्धिमान साहा भी मैदान पर वापसी कर रहे हैं। स्थानीय खिलाड़ी होने के कारण वह ईडन के हालात से भली-भांति वाकिफ हैं।

मेहमान टीम के पास यूसुफ पठान जैसा विस्फोटक बल्लेबाज और मनीष पांडे परिस्थिति के मुताबिक खेलने वाला बल्लेबाज भी हैं। सनराइजर्स को सलामी बल्लेबाज शिखर धवन की कमी खल सकती है, जो अब दिल्ली कैपिटल्स का हिस्सा हैं, लेकिन उनकी भरपाई के लिए मार्टिन गुप्टिल हैं। हैदराबाद के लिए युवा अफगानी स्पिनर राशिद खान ‘डार्क हार्स’ साबित हो सकते हैं। कभी कोलकाता का हिस्सा रहे शाकिब-अलहसन जैसा उम्दा ऑलराउंडर भी अब हैदराबाद के तरकश में है। तेज गेंदबाजी की कमान भुवनेश्वर कुमार संभालेंगे।

वार्नर पर होगी नजर
सनराइजर्स हैदराबाद के ऑलराउंडर और धाकड़ बल्लेबाज यूसुफ पठान ने कहा 'वार्नर काफी लंबे समय बाद लौट रहे हैं इसलिए काफी लोग उन्हें फिर से खेलते हुए देखने के लिए आएंगे। आप सनराइजर्स हैदराबाद के प्रशंसक हों या नहीं, लेकिन हर कोई उसकी धुआंधार बल्लेबाजी का लुत्फ उठाता है। वह मैदान पर दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर देता है। वह शानदार खिलाड़ी है।'

एक और अर्धशतक बस
एक अर्धशतक लगाते ही वार्नर आइपीएल में अर्धशतक के मामले में सबसे आगे निकल जाएंगे। वह 36 अर्धशतक लगाकर गंभीर के बाद दूसरे स्थान पर हैं। यह मैच रविवार को शाम 4 बजे शुरू होगा। बता दें कि 2016 आइपीएल का खिताब सनराइजर्स हैदराबाद की टीम ने डेविड वार्नर की कप्तानी में जीता था। यह सनराइजर्स की पहली ट्रॉफी थी। 

Posted By: Nitin Arora

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप