चेन्नई, जेएनएन। आइपीएल के 41वें मैच में सनराइजर्स हैदराबाद का सामना डिफेंडिंग चैम्पियन चेन्नई सुपर किंग्स से हुआ। इस रोमांचक मुकाबले में चेन्नई ने हैदराबाद को 6 विकेट से हराकर शानदार जीत दर्ज की। हैदराबाद के 176 रनों के लक्ष्य को चेन्नई ने एक गेंद पहले ही 4 विकेट खोकर हासिल कर लिया। 

ये चेन्नई की इस सीजन में 11 मैचों में 8वीं जीत रही। इसी के साथ चेन्नई एक बार फिर अंक तालिका में नंबर वन बन गई और प्लेऑफ में जगह बनाने वाली पहली टीम भी है। चेन्नई सुपरकिंग्स ने अब तक अपने घरेलू स्टेडियम में सभी 5 मैच जीते हैं और यही उसके क्वालीफाई करने का सबसे बड़ा फॉर्मूला है।

मैच के बाद प्रेसेंटेशन सेरेमनी में जब कप्तान महेंद्र सिंह धौनी से चैन्नई सुपर किंग्स की सफलता का राज़ पूछा गया तो उन्होंने बड़ी चतुराई से इसका जवाब दिया। धौनी ने हंसते हुए कहा, " चेन्नई हर सीजन में प्लेऑफ में जगह कैसे बनाती है यह एक राज़ है। और अगर मैं यह राज़ खोल दूंगा तो फ्रेंचाइज़ी नीलामी के दौरान मुझे अपने साथ क्यों जोड़ेगी।   

धौनी ने अपनी कप्तानी में चेन्नई को तीन बार आइपीएल (2018, 2011 और 2010) का चैंपियन बनाया है। 2016 और 2017 (फ्रेंचाइजी पर बैन लगा था) के अलावा माही की ही कप्तानी में सीएसके ने आइपीएल के हर सीजन में प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई किया है।   

धौनी ने टीम की सफलता पर बात करते हुए कहा, "ज़ाहिर है जीत के लिए फ्रेंचाइजी और स्टेडियम में मौजूद दर्शकों का समर्थन सबसे महत्वपूर्ण होता है। टीम के सपोर्ट सटाफ को भी श्रेय जाता है जो टीम में माहौल को अच्छा रखने में बहुत बड़ी भूमिका निभाते हैं। इसके अलावा अपने संन्यास से पहले मैं और कोई खुलासा नहीं कर सकता।"  

चेन्नई को अगला मुकाबला शुक्रवार (26 अप्रैल) को मुंबई इंडियंस से खेलना है। चेन्नई ने इस सीजन कुल तीन मैच हारे हैं। पहला मैच मुंबई इंडियंस से 37 रन से, दूसरा हैदराबाद सनराइजर्स के खिलाफ 6 विकेट से और तीसरा बैंगलोर के खिलाफ सिर्फ एक रन से। धौनी ने अभी तक आइपीएल में सीएसके के लिए 155 मैचों की अगुवाई की है, जिसमें से 97 जीते जबकि 57 गंवाए।  

Posted By: Ruhee Parvez

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप