मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जयपुर, जेएनएन। आइपीएल-12 में सोमवार को राजस्थान रॉयल्स और दिल्ली कैपिटल्स के बीच टूर्नामेंट का 40वां मैच खेला गया। जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम में खेले गए इस बेहद रोमांचक मुकाबले में दिल्ली ने राजस्थान को 6 विकेट से हराया। इस मैच क दौरान एक दिलचस्प वाक्या भी सामने आया जब गेंद विकेट्स पर लगी लेकिन बेल्स नहीं गिरीं।  

दरअसल, दिल्ली बल्लेबाजी कर रही थी और 16वें ओवर में तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर गेंदबाजी कर रहे थे। दिल्ली ने दो विकेट के नुकसान से 151 रन बना लिए थे। दिल्ली को जीत के लिए 25 गेंदों में 41 रनों की जरूरत थी। पृथ्वी शॉ बल्लेबाजी कर रहे थे। 16वें ओवर की आखिरी गेंद के दौरान जोफ्रा की तेजी से आती गेंद विकेट्स पर तो लगी लेकिन बेल्स नहीं गिरीं। जोफ्रा की गेंद 150 kmph की रफ्तार से स्टंप्स को छूते हुए निकली, लाईट भी जली लेकिन बेल्स नहीं हिलीं।

केएल राहुल भी रहे थे खुशकिस्मत

आइपीएल 12 में यह पहला मौका नहीं है जब स्टंप में गेंद लगने के बाद बेल्स न गिरीं हो। इससे पहले भी दो बार ऐसा हो चुका है। 6 अप्रैल को चेन्नई सुपरकिंग्स बनाम किंग्स इलेवन पंजाब के बीच मैच खेला जा रहा था। पंजाब की पारी के 13वें ओवर में केएल राहुल बल्लेबाजी कर रहे थे। राहुल ने चेन्नई के गेंदबाज रवींद्र जडेजा की गेंद पर रन लेने की कोशिश की मगर धौनी ने पीछे से शानदार थ्रो फेंकर राहुल को रनआउट कर दिया। रीप्ले में साफ देखा गया कि स्टंप्स पर गेंद लगने के बाद राहुल क्रीज के अंदर पहुंचे। मगर उन्हें आउट नहीं दिया गया क्योंकि इस बार भी स्टंप की लाइट जली लेकिन बेल्स नहीं गिरी।

धौनी भी बचे थे बोल्ड होने से

वहीं आइपीएल-12 में चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स के बीच मैच में दूसरी बार ऐसा देखने को मिला था। धौनी राजस्थान के जोफ्रा आर्चर की गेंद पर बोल्ड हो गए थे। लेकिन, स्टंप्स से बेल्स नहीं गिरीं और धौनी आउट होने से बच गए। दिलचस्प बात यह है कि उस वक्त धौनी ने खाता भी नहीं खोला था।

धवल कुलकर्णी भी हो चुके हैं शिकार

आइपीएल के इस सीजन में कई बार ऐसा देखने को मिल रहा है जब गेंद के स्टंप्स पर लगने के बावजूद बेल्स नहीं गिरीं हों। इससे पहले राजस्थान रॉयल्स के ही गेंदबाज धवल कुलकर्णी के साथ ऐसा हुआ था। इस सीजन के 21वें मैच राजस्थान रॉयल्स और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम में ही खेला गया था। कोलकाता की पारी के चौथे ओवर में राजस्थान के गेंदबाज धवल कुलकर्णी की गेंद क्रिस लिन के लेग स्टंप को छूती हुई निकल गई, लेकिन बेल्स नहीं गिरीं। जिससे बल्लेबाज क्रिस लिन आउट होने से बच गए। इस मुकाबले में क्रिस लिन ने 32 गेंदों में 50 रनों की धुंआधार पारी खेली। 

 

Posted By: Ruhee Parvez

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप