विशाखापट्टनम, पीटीआइ। आइपीएल 2019 के दूसरे क्वालीफायर में चेन्नई सुपर किंग्स ने एकतरफा मैच में दिल्ली कैपियल्स को 6 विकेट से हरा दिया। इस मैच में दिल्ली के बल्लेबाज क्रीज पर टिक ही पाए और एक बाद एक ताश के पत्तों की तरह बिखर गए। दिल्ली की ओर से रिषभ पंत ने सबसे ज्यादा 38 रन बनाए। इस हार के साथ दिल्ली का सुनहरा सफर खत्म हो गया। 

श्रेयस अय्यर ने मैच के बाद बात करते हुए कहा कि स्पिनर्स को कुछ टर्न मिल रहा था और गेंदबाजों समय समय पर विकेट भी हासिल कर रहे थे। अय्यर ने हार के लिए बल्लेबाजों को जिम्मेदार ठहराया। अय्यर ने कहा, " मैच में हमारी शुरुआत ही बेहद खराब रही। हमने पॉवरप्ले में दो विकेट गंवा दिए और उसके बाद वापसी करना मुश्किल हो गया। चेन्नई के पास गजब के स्पिनर्स हैं। लेकिन इस सब के बावजूद हमारे लिए ये सीजन शानदार रहा।"

श्रेयस ने कहा, " किसी भी बल्लेबाज ने टीम को अच्छे स्कोर तक पहुंचाने की जिम्मेदारी नहीं ली और न ही साझेदारी हो पाई। निराशाजनक था लेकिन इससे हमने काफी सीखा है।" दिल्ली के पिच के बारे में बात करते हुए अय्यर ने कहा, " इसके बारे में सोचना होगा। हमारा होम ग्राउंड पर प्रदर्शन खराब रहा। हमने धीमी विकेट पर काफी प्रैक्टिस की। लेकिन हम पेशेवर क्रिकेटर हैं और ऐसे बहाने नहीं दे सकते।" 

IPL 2019: 8वीं बार फाइनल में पहुंचकर धौनी बेहद खुश, इनको बताया जीत का हीरो!

अय्यर ने इस सीजन के अपने अनुभव के बारे में बात करते हुए कहा, " मुझे लगता है कि हमें एम एस धौनी, विराच कोहली, रोहित शर्मा जैसे सीनीयर खिलाड़ियों का काफी कुछ सीखने को मिला। मेरे लिए बेहद गर्व का लम्हा होता था जब मैं उनके साथ टॉस के लिए खड़ा होता था। वह मुझसे बात करते थे, अपना अनुभव शेयर करत थे, जो मेरे लिए काफी अच्छा रहा। मैंने रोहित और कई क्रिकेटर्स के मुंह से यह बात सुनी है कि कप्तानी करना कितना मुश्किल काम है और हां, यह आसान नहीं है। लेकिन मैं कप्तानी करते खुश हूं।"    

अय्यर ने टीम की तारीफ करते हुए कहा, "दिल्ली के सभी खिलाड़ियों पर गर्व है। हम सभी एक परिवार की तरह हो गए हैं। टीम के कोच और सपोर्टिंग स्टाफ गजब का है। इस सीजन में हमने सिर्फ शुरुआत की है अब अगले सीजन में हम और मजबूती से आएंगे।"  

दिल्ली कैपिटल्स ने सीजन में अपने पहले मैच में मुंबई इंडियंस को हराकर जोरदार शुरुआत की। बीच के कुछ मैचों में टीम उचार चढ़ाव से गुजरी लेकिन फिर संभलकर शानदार वापसी की और अहम मुकाबले जीते। दिल्ली ने 2012 के बाद प्लेऑफ में जगह बनाई और आइपीएल इतिहास में पहले बार एलीमिनेटर मैच जीतने में कामयाब हुई।     

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Ruhee Parvez