नई दिल्ली, जेएनएन। दिल्ली कैपिटल्स (DC) ने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) के खिलाफ जीत भले ही दर्ज कर ली हो, लेकिन एक गलती है जो इस आइपीएल (IPL) में उस पर भारी पड़ सकती है। दिल्ली ने बैंगलोर को चार विकेट से हराया, लेकिन यह जीत और बड़ी हो सकती थी। दिल्ली के बल्लेबाजों ने आखिरी के ओवर्स में अपने विकेट गंवा दिए। दिल्ली इस गलती को लगातार दोहरा रही है। इससे पहले पंजाब के खिलाफ इसी गलती की वजह से दिल्ली ने मैंच गंवाया था। टीम का मध्यक्रम शुरुआत तो अच्छी करता है लेकिन मैच जीताने में नाकाम रहता है। 

आसानी से गंवाए विकेटः दिल्ली की टीम आसानी से जीत की ओर बढ़ रही थी। 17वें ओवर में पहले कप्तान श्रेयष अय्यर ने बड़ा शॉट मारने के चक्कर में अपना विकेट दे दिया। इसके बाद टीम को 12 गेंदो पर पांच रन की दरकार थी, लेकिन बल्लेबाजी करने आए क्रिस मॉरिस भी अपना खाता बिना खोले वापस चले गए। अगले ही ओवर में रिषभ पंत ने भी अपना विकेट गंवा दिया। दिल्ली के आगे अगर लक्ष्य बड़ा होता तो उसे यह गलती भारी पड़ सकती थी।

लगातार तीसरे मैच में दोहराई एक ही गलती: पंजाब के खिलाफ भी खेले गए मैच में दिल्ली ने यही गलती की थी। एक समय लग रहा था कि दिल्ली के लिए जीत बहुत आसान है, तभी टीम ने आठ रनों के अंदर सात विकेट गंवा दिए। इस मैच में सैम कुरेन ने हैट्रिक ली थी। इस हार के बाद कप्तान श्रेयस अय्यर ने कहा था कि इससे बुरी हार नहीं हो सकती।

कोलकाता के खिलाफ फंस गया था मैचः दिल्ली और कोलकाता के खिलाफ मैच सुपर ओवर तक गया था। एक वक्त था जब दिल्ली को 13 गेंदो में 17 रन चाहिए थे। दिल्ली के हाथ में आठ विकेट थे, लेकिन दिल्ली ने लगातार तीन विकेट गंवा दिए। इसी कारण से मैच सुपर ओवर तक खिंच गया। 

लगातार एक ही गलती की वजह से मैच गंवाने के बाद दिल्ली की टीम इससे सीखने को तैयार नहीं है। अगर दिल्ली ने इसमें सुधार नहीं किया था तो इस टूर्नामेंट में उसका सफर ज्यादा लंबा होना मुश्किल है।

 

Aus-vs-Ind

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस