नई दिल्ली, जेएनएन। इडियन प्रीमियर लीग (IPL) का 12वां सीजन समाप्त हो गया। इस आइपीएल सीजन में फैंस को बेहतरीन क्रिकेट देखने को मिली। यहां तक कि चैंपियन का फैसला भी आखिरी गेंद पर हुआ। ऐसे में पूर्व भारतीय कप्तान और दिग्गज खिलाड़ी सुनील गावस्कर ने अपने बेस्ट आइपीएल सीजन के बारे में बताया है। बता दें कि आइपीएल 12 में मुंबई इंडियंस (MI) ने चेन्नई सुपर किग्स (CSK) को हराकर ट्रॉफी अपने नाम की।

दैनिक जागरण में छपे अपने कॉलम में गावस्कर ने आइपीएल 12 को अबतक का बेस्ट सीजन बताया है। गावस्कर के मुताबिक, 'इस साल का आइपीएल अब तक का बेस्ट टूर्नामेंट रहा है। बहुत से मैच आखिरी ओवरों में खत्म हुए और कई तो 39वें ओवर तक खिंचे। यह बताता है कि दर्शकों के लिए यह टूर्नामेंट कितना रोमांचक रहा। फाइनल मुकाबला भी आखिरी गेंद तक चला। हर साल बड़े होते इस टूर्नामेंट का फाइनल इससे बेहतर नहीं हो सकता था। यह सही है कि हमें सिर्फ मौजूदा इवेंट ही याद रहते हैं और पिछले को भूल जाते हैं। मगर इसमें कोई शक नहीं है कि यह टूर्नामेंट अब तक का बेस्ट टूर्नामेंट रहा है।'

फाइनल मैच में आए उतार-चढ़ाव को लेकर गावस्कर ने लिखा, 'मुंबई इंडियंस अब रोहित शर्मा की कप्तानी में चार बार यह टूर्नामेंट जीत चुकी है और आइपीएल के इतिहास के वह सबसे सफल कप्तान बन गए हैं। फाइनल में भारत के दो बेस्ट कप्तान आमने-सामने थे और मैच का रुख हर ओवर के साथ बदल रहा था। टूर्नामेंट की शुरुआत बेहद ही नीरस मुकाबले के साथ हुई थी। बैंगलोर की टीम महज 70 रनों पर सिमट गई थी, लेकिन बाद में जिस ढंग से इस टूर्नामेंट ने लय पकड़ी, वह शानदार है। हालांकि, आयोजक अगर टूर्नामेंट की शुरुआत गत चैंपियन टीम और अंक तालिका की सबसे निचली पायदान वाली टीम के बीच मुकाबले से ना कराएं, तो ज्यादा अच्छा होगा। निचले पायदान वाली टीम में भले ही कुछ सुपरस्टार हों, लेकिन मैच के एकतरफा होने की संभावना बढ़ जाती है। टूर्नामेंट की शुरुआत विजेता और उप विजेता टीम के बीच होनी चाहिए, इससे टूर्नामेंट को सही लय मिलेगी।' 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Rajat Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप