नई दिल्ली, पीटीआइ। बिड़ला, अदाणी और टोरेंट जैसे बड़े व्यावसायिक ग्रुप आइपीएल की दो नई टीमों को खरीदने ही होड़ में शामिल हैं। बीसीसीआइ ने नई टीमों के लिए निविदा दस्तावेज खरीदने की समय सीमा 20 अक्टूबर तक 10 दिन के लिए बढ़ा दी है और विश्वस्त सूत्रों के अनुसार दो नई फ्रेंचाइजी में प्रत्येक की कीमत 3500 करोड़ रुपये से कम की नहीं होगी।

आइपीएल की संचालन परिषद ने 31 अगस्त को 10 लाख रुपये के निविदा शुल्क (जिसे वापस नहीं किया जाएगा) के भुगतान पर निविदा आमंत्रण (आइटीटी) दस्तावेज जारी किया था। इसे पहले 10 अक्टूबर तक बढ़ा दिया गया था। बीसीसीआइ के अनुसार, 'विभिन्न इच्छुक कंपनियों के अनुरोध को देखते हुए आइटीटी दस्तावेज खरीदने की तारीख को और बढ़ाकर अब 20 अक्टूबर 2021 तक करने का फैसला किया गया है।'

T20 World Cup 2021: फाइनल भारतीय टीम घोषित, अय्यर और चहल का सपना टूटा, इस खिलाड़ी की हुई इंट्री

बीसीसीआइ की योजना 2022 आइपीएल चरण में दो और टीमों को जोड़ने की है और इनके अहमदाबाद, लखनऊ और पुणे से होने की उम्मीद है। पता चला है कि बड़े व्यावसायिक घराने जैसे कोटक ग्रुप, अरबिंदो फार्मा, टोरेंट फार्मा, आरपी-संजीव गोयनका ग्रुप, बिड़ला ग्रुप और अदाणी ग्रुप आइपीएल में टीम खरीदने के इच्छुक हैं, जो फिलहाल आठ टीमों का टूर्नामेंट है। बीसीसीआइ कम से कम 7000 करोड़ रुपये की कमाई करने की उम्मीद कर रहा है, हालांकि प्रत्येक टीम का आधार मूल्य 2000 करोड़ रुपये रखा गया है।

बीसीसीआइ ने तीन दल के समूह को बोली लगाने की अनुमति दी है। नई टीमों की घोषणा दुबई में 25 अक्टूबर को किए जाने की उम्मीद है जिससे एक दिन पहले भारत टी-20 विश्व कप में अपने अभियान की शुरुआत चिरप्रतिद्वंदी पाकिस्तान के खिलाफ करेगा।

रवि शास्त्री के बाद कौन हो सकता है टीम इंडिया का अगला कोच, BCCI ने दिया इसको लेकर संकेत

 

Edited By: Viplove Kumar