हरारे, एजेंसी। भारत और जिम्बाब्वे के बीच तीन मैचों की वनडे सीरीज गुरुवार से शुरू हो रही है। पिछले कुछ समय में चोटों से परेशान रहे लोकेश राहुल एक और सीरीज में भारत का नेतृत्व करने की तैयारी कर रहे हैं और इस दौरान वह टीम प्रबंधन का धन्यवाद करना नहीं भूले जिसने दो महीने उनके टीम से बाहर रहने के बावजूद पिछले दो साल के उनके योगदान को याद रखा।

जिंबाब्वे के विरुद्ध पहले वनडे मैच की पूर्व संध्या पर भारतीय कप्तान ने कहा, 'आप दो महीने के लिए बाहर हो सकते हैं, लेकिन वे यह नहीं भूले कि आपने पिछले दो-तीन वर्षों में टीम और देश के लिए क्या किया है। खिलाड़ी वास्तव में ऐसे माहौल में कामयाब होते हैं। यह इस तरह का माहौल है जो एक खिलाड़ी को एक अच्छे खिलाड़ी से एक महान खिलाड़ी में बदलने में मदद कर सकता है।'

उन्होंने कहा, 'एक खिलाड़ी के लिए चयनकर्ताओं, कोच और कप्तान का समर्थन हासिल करना बहुत महत्वपूर्ण होता है। यह आपको इतना आत्मविश्वास देता है कि आपकी मानसिकता स्पष्ट हो जाती है और आप आवश्यक चीजों पर ध्यान केंद्रित कर सकते हैं।'

इस खिलाड़ी को अपने करियर के दौरान कई बार चोटों का सामना करना पड़ा और वह अभी खेल हर्निया की सर्जरी से उबरे हैं। राहुल ने कहा, 'चोटें खेल

का हिस्सा हैं और इसने मुझ पर दया नहीं दिखाई है, लेकिन यह यात्रा का हिस्सा है।' राहुल जून में स्वदेश में दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध टी-20 अंतरराष्ट्रीय सीरीज की शुरुआत के पहले से टीम से बाहर हैं।

राहुल ने कहा, 'मैं, कुलदीप और दीपक चाहर, हम सभी राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में थे (रिहैबिलिटेशन के लिए) और सभी इस सीरीज की तैयारी कर रहे थे। इसलिए मुझे पता है कि उन्होंने अच्छी तैयारी की है और वे जानते हैं कि उन्हें क्या करने की आवश्यकता है।'

 

Edited By: Viplove Kumar