नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय क्रिकेटर युवराज सिंह ने इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया है। युवराज भारतीय क्रिकेट इतिहास में युवराज का नाम उन खिलाड़ियों में गिना जाता है, जिन्होंने अपने करियर में कई उतार-चढ़ाव के बाद भी एक मुकाम हासिल किया, जो अन्य क्रिकेटर्स के लिए काफी मुश्किल है। उन्होंने अपने जीवन के 25 साल क्रिकेट को ही दे दिए और 17 साल तक इंटरनेशनल क्रिकेट में विरोधी गेंदबाजों के लिए खौफ बने रहे। अब उन्होंने संन्यास ले लिया है और ऐसे में जानते हैं कि आखिर युवराज सिंह ने भारतीय क्रिकेट को कितना योगदान दिया।

वन डे क्रिकेट

उन्होंने अपने करियर में भारत के लिए 304 मैच खेले, जिसमें उन्होंने 8701 रन बनाए। वन डे में उन्होंने 87.67 स्ट्राइक रेट के साथ इतने रन बनाए। इसमें उनके 14 शतक और 52 अर्द्धशतक शामिल हैं।

टेस्ट क्रिकेट

उन्हों अपने करियर में 40 टेस्ट मैच खेले थे और 1900 रन बनाए। टेस्ट करियर में उन्होंने 3 शतक और 11 फीफ्टी लगाई थी। इस जर्नी में उन्होंने 260 चौके, 22 छक्के लगाए थे।

टी-20

उन्होंने टी-20 फॉरमेट में 58 मैच खेलकर 1177 रन बनाए थे और उनका बेस्ट स्कोर 77 रन थे। उनका टी-20 का रिकॉर्ड बताता है कि वो सिक्सर किंग थे। उन्होंने टी-20 में 74 छक्के लगाए थे, जबकि 77 चौके लगाए थे।

वहीं अगर गेंदबाजी की बात करें तो उन्होंन टेस्ट क्रिकेट में 9, वन डे क्रिकेट में 111 और टी-20 में 28 विकेट हासिल किए थे। वहीं एक बार एक मैच में ही उन्होंने 5 विकेट हासिल किए थे।  

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Mohit Pareek