मुंबई, पीटीआइ। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआइ) ने ये फैसला किया है कि अब से भारतीय टीम के चयन से पहले ही खिलाड़ियों का फिटनेस टेस्ट होगा। बोर्ड ने ये फैसला खिलाड़‍ियों के यो-यो टेस्ट में फेल होने के मद्देनजर विषम स्थिति से बचने के लिए लिया है।

हाल ही में मोहम्मद शमी को अफगानिस्तान के खिलाफ खेले गए ऐतिहासिक टेस्ट मैच से पहले टीम से बाहर होना पड़ा था, क्योंकि वो यो-यो टेस्ट पास नहीं कर सके थे। इसी के साथ इंग्लैंड दौरे के लिए चुनी गई टीम में अंबाती रायुडू का नाम भी शामिल था, लेकिन वो भी फिटनेस टेस्ट पास करने में नाकाम रहे। वहीं संजू सैमसन को इंग्लैंड दौरे के लिए भारत 'ए' टीम में शामिल किया गया था, लेकिन वे भी यो-यो टेस्ट में फेल होने के बाद टीम से बाहर किए गए। भविष्य में ऐसी परिस्थितियां न बने इसी वजह से बोर्ड ने अब ये फैसला किया है।  

आपको बता दें कि अफगानिस्तान के लिए टेस्ट, आयरलैंड और इंग्लैंड के खिलाफ टी 20 और वनडे टीम के लिए भारतीय टीमों की घोषणा आइपीएल के दौरान की गई थी। अब से टीम इंडिया के चयन से पहले ही भारतीय खिलाड़ियों का फिटनेस टेस्ट किया जाएगा और जो भी खिलाड़ी फिटनेस टेस्ट में पास हो जाएंगे फिर चयनसमिति उनके नाम पर चर्चा करेगी।  

क्रिकेट प्रशासकों की बैठक में इस मुद्दे पर चर्चा हुई। इस बैठक में चेयरमैन विनोद राय, डायना इदुलजी, बीसीसीआई सीईओ राहुल जोहरी और महाप्रबंधक (क्रिकेट ऑपरेशंस) सबा करीम शामिल थे। बीसीसीआइ अधिकारी ने कहा, अगली बार से फिटनेस टेस्ट पास करने के बाद ही खिलाड़ी को टीम में चुना जाएगा। आइपीएल चल रहा था, इसलिए इस बार ऐसा नहीं हो पाया और हमें असहज स्थिति का सामना करना पड़ा।

फीफा की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

फीफा के शेड्यूल के लिए यहां क्लिक करें

अंबाती रायुडू ने आइपीएल में बेहतरीन प्रदर्शन किया था और इसी वजह से उन्हें इंग्लैंड दौरे के लिए टीम में शामिल किया गया था, लेकिन वे भी यो-यो टेस्ट को पास करने में असफल रहे। इसके बाद उनकी जगह वनडे सीरीज के लिए सुरेश रैना को टीम में चुना गया। मोहम्मद शमी अफगानिस्तान के खिलाफ टेस्ट से पहले यो-यो टेस्ट में पास नहीं हो सके थे और फिर उनकी जगह दिल्ली के तेज गेंदबाज नवदीप सैनी को टीम में शामिल किया गया था।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें
अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Pradeep Sehgal